खोज

Vatican News
भारत एवं बंगलादेश में चक्रवात भारत एवं बंगलादेश में चक्रवात  (AFP or licensors)

चक्रवात अम्फन: भारत व बंगलादेश के प्रति यूएन प्रमुख की सहानुभूति

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव अंतोनियो गुटेर्रेस ने भारत के पश्चिम बंगाल एवं ओडिशा राज्यों तथा बंगलादेश में गत बुधवार को आये भयंकर अम्फन चक्रवात से हुए जान माल की क्षति पर गहरा शोक व्यक्त किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

भारत/बंगलादेश, मंगलवार, 26 मई 2020 (वीएन अंग्रेजी)- इस प्राकृतिक आपदा ने भारत और बंगलादेश दोनों ही देशों में कोविड-19 से संघर्ष में शारीरिक दूरी बनाकर रखना मुश्किल कर दिया है।   

संवेदना

शनिवार को जारी एक विज्ञप्ति में संयुक्त राष्ट्र के महासचिव गुटेर्रेस के प्रवक्ता स्टेफन डुजारिक ने बतलाया कि भारत और बंगलादेश में चक्रवात अम्फन के कारण मौत एवं विनाश के परिणामों के कारण महासचिव दुःखी हैं। वे उन लोगों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना प्रकट करते हैं जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया है तथा वे घायल एवं आपदा के शिकार लोगों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हैं।   

राहत कार्य एवं स्थान खाली करना

अम्फन तूफान के पूर्व दोनों देशों के करीब 3 मिलियन लोगों को अपना घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों में भेज दिया गया था जिससे कि भूस्खलन के खतरे से बचा जा सके।

संयुक्त राष्ट्र के सचिव ने भारत और बंगलादेश के चक्रवात प्रभावित लोगों के प्रति एकात्मता व्यक्त की है।

विनाश

पश्चिम बंगाल राज्य के अधिकारियों के अनुसार, चक्रवात ने सात जिलों में बुनियादी ढांचों और फसलों को 13 बिलियन डॉलर का नुकसान पहुंचाया है। जबकि बंगलादेश के अधिकारियों ने इस नुकसान को 130 मिलियन डॉलर बतलाया जो बढ़ सकता है। दोनों देशों ने चक्रवात में कुल 102 लोगों को खोया है जिनमें से अधिकांश लोगों की मौत घर के ध्वस्त होने अथवा बिजली के करेंट लगने से हुई है।

पश्चिम बंगाल के सरकारी अधिकारियों के अनुसार चक्रवात ने करीब 13 मिलियन लोगों को प्रभावित किया है जिसमें से अधिकतर लोगों ने अपना घर, फसल और जमीन खो दी है। करीब 1.5 मिलियन घर क्षतिग्रस्त हो चुके हैं।

पश्चिम बंगाल राज्य की राजधानी कोलकाता (पूर्व में कलकत्ता) में, अधिकारी,  133 किमी प्रतिघंटा की हवा और घंटों तक हुई बारिश से सड़कों पर गिरे पेड़ों को हटाने हेतु संघर्ष कर रहे हैं।

शुक्रवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रभावित क्षेत्र का दौरा करने के बाद पश्चिम बंगाल में आपातकालीन राहत पैकेज के रूप में 132 मिलियन डॉलर देने की घोषणा की।

26 May 2020, 16:50