खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (ANSA)

हुमा के माता-पिता द्वारा संत पापा से मदद की अपील

एक 14 वर्षीय ख्रीस्तीय हुमा युनूस के माता-पिता ने संत पापा फ्राँसिस और नागर अधिकारियों से मदद मांगी है। उनकी बेटी का अपहरण के बाद और अपहरणकर्ताओं में से एक से शादी करने के लिए मजबूर किया गया है। वकील का कहना है, "अंतरराष्ट्रीय समुदाय का दबाव बहुत महत्वपूर्ण है।"

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

कराची, सोमवार 9 दिसम्बर 2019 (वाटिकन न्यूज) : हुमा यूनुस के माता-पिता हर मार्ग का अनुसरण कर रहे हैं, जो उन्हें "संत पापा फ्राँसिस" की अपील करने में मदद करने के साथ ही उनकी बेटी की रिहाई को सुरक्षित करने में मदद कर सकता है। उनकी 14 वर्षीय बेटी का दो महीने पहले पाकिस्तान में अपहरण कर लिया गया था। वे दुनिया भर के मीडिया की मदद की वीडियो अपील कर रहे हैं। हुमा के जबरन इस्लाम में धर्मांतरित होने और अपहरणकर्ताओं में से एक द्वारा "शादी" किये जाने के बाद उनकी चिंता दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। एशिया बीबी के मामले में अंतरराष्ट्रीय दबाव के प्रभाव को देखकर, उन्हें उम्मीद है कि जागरूकता बढ़ाने से उनके मामले में भी मदद मिल सकती है।

कोई जवाब नहीं

हुमा अभी सिर्फ 14 साल की हैं और उनके चीनी और पाकिस्तानी अपराधियों द्वारा महिलाओं की तस्करी का शिकार होने की संभावना है।

हुमा के मामले को कराची के अभिलेखागार की ओर से वकील तबस्सुम यूसुफ देख रहे हैं। यूसुफ की रिपोर्ट है कि कराची की अदालतों में की गई पांच अपीलों का कोई असर नहीं हुआ। चोट के अपमान को जोड़ते हुए, अपहरणकर्ताओं ने खुद अब उच्च न्यायालय में अपील की है कि लड़की को उसके माता-पिता के अधिकार से मुक्त करने का अनुरोध करते हुए, यह दावा किया है कि वह बालिग है। लेकिन हुमा का जन्म 2005 में हुआ था और वह बस एक किशोरी है जो अपने साथियों की तरह जीवन का अनुभव करना चाहती है।

वीडियो अपील

जिस वीडियो में हुमा के माता-पिता संत पापा फ्राँसिस से एकजुटता की अपील करते हैं, वे अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को समग्र रूप से संबोधित करते हैं, साथ ही अपने देश में अधिकारियों, सरकार के प्रमुख से, सशस्त्र बलों के प्रमुख से और विशेष रूप, वे पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के बेटे और राजनेता बिलावल भुट्टो जरदारी से अपील करते हैं।

09 December 2019, 16:33