खोज

Vatican News
आदिवासी नेताओं ओर  सरकार के साथ बातचीत आदिवासी नेताओं ओर सरकार के साथ बातचीत   (ANSA)

इक्वाडोर: आदिवासी नेता सरकार के साथ बातचीत के लिए सहमत

इक्वाडोर के राष्ट्रीय आदिवासी परिसंघ का कहना है कि वह सरकार के साथ बातचीत करने के लिए सहमत है सरकार ने ईंधन सब्सिडी को हटा दिया है, जिसके कारण देशव्यापी विरोध प्रदर्शन किया गया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

क्विटो- इक्वाडोर, सोमवार 14 अक्टूबर 2019 (वाटिकन न्यूज) : दक्षिण अमेरिकी देश ​इक्वाडोर में सरकार ने राजधानी क्विटो और आसपास के इलाकों में कर्फ्यू लगाने और सैन्य नियंत्रण का आदेश दिया है। सरकार ने खर्चों में कटौती के विरोध में जारी हिंसक प्रदर्शनों के 11वें दिन यह आदेश दिया है। इक्वाडोर में आंदोलनकारियों की ओर से ईंधन की बढ़ी कीमतों के विरोध में आंदोलन वापस लिए जाने के बाद भी शनिवार को हिंसा जारी रही। प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति लेनिन मोरेनो के बातचीत के प्रस्ताव को भी स्वीकार कर लिया है।

नेताओं का कहना है कि वे इक्वाडोर के राष्ट्रपति लेनिन मोरेनो के साथ बातचीत करने के लिए तैयार हैं, लेकिन उन्होंने अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं कि ईंधन सब्सिडी को हटाने के उनके निर्णय को पूरी तरह से छोड़ दिया जाना चाहिए। मार्च में आईएमएफ द्वारा सरकार के साथ 4.2 बिलियन डॉलर का ऋण वापसी पर सहमत हुआ था। लेकिन सौदे के हिस्से के रूप में सालाना 1.3 बिलियन डॉलर की ईंधन सब्सिडी को समाप्त किया जाना था। मोरेनो अब कहते हैं कि इसके बारे में पुनः बात करेंगे कि संसाधनों को कहाँ आवंटित किया गया है और जो सबसे ज्यादा जरुरतमंद है उसे ही मिलेगा।  

राष्ट्रपति ने रविवार को पूरे देश में दोपहर 3 बजे तक... या शायद आगे की सूचना तक कर्फ्यू लगा दिया। कर्फ्यू विशेष रूप से बंदरगाहों, हवाई अड्डों, पुलिस सैन्य ठिकानों और जलाशयों के साथ-साथ ऊर्जा क्षेत्रों सहित संवेदनशील क्षेत्रों पर लागू होता है। क्विटो का अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर भी इसका प्रभाव पड़ा है।

नेशनल असेंबली सोमवार, 14 अक्टूबर को तटीय शहर सेलिनास में वर्तमान संकट पर बैठक आयोजित कर रही है। पिछले कुछ वर्षों में विरोध प्रदर्शकों ने तीन राष्ट्रपतियों को पद से नीचे उतार दिया है। वर्तमान स्थिति पहले से बहुत ज्यादा गंभीर है। साधारण लोग पहले से ही ईंधन की कीमतों में 100 प्रतिशत वृद्धि का भुगतान करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं और अब वे इसे स्वीकार नहीं करेंगे।।

14 October 2019, 16:25