खोज

Vatican News
अल अजहर के ग्रैंड ईमाम अहमद एल तायेब के साथ मुलाकात करते संत पापा अल अजहर के ग्रैंड ईमाम अहमद एल तायेब के साथ मुलाकात करते संत पापा  (ANSA)

मानव बंधुत्व पर दस्तावेज को बढ़ावा देने हेतु समिति का गठन

विश्व शांति एवं सह-अस्तित्व के लिए मानव बंधुत्व पर एक दस्तावेज में निहित सहिष्णुता और सहयोग के आदर्शों को बढ़ावा देने हेतु एक नई उच्च समिति की स्थापना की गई है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार, 21 अगस्त 2019 (रेई)˸ संयुक्त अरब अमीरात में मानव बंधुत्व दस्तावेज के कार्यान्वयन हेतु एक उच्च समिति का गठन किया गया है।   

दस्तावेज पर हस्ताक्षर संत पापा फ्राँसिस एवं अल अजहर के ग्रैंड ईमाम अहमद एल तायेब ने फरवरी में अबु धाबी में संत पापा की यात्रा के दौरान की थी। दस्तावेज उन सभी लोगों को "एकजुट होने और एक साथ काम करने के लिए निमंत्रण देती है जो ईश्वर पर विश्वास करते एवं मानव बंधुत्व को मानते हैं ताकि यह आपसी सम्मान की संस्कृति में बढ़ने हेतु भावी पीढ़ी के लिए एक मार्गदर्शन बने, उस महान दिव्य कृपा की चेतना के साथ जो सभी मानव प्राणी को भाई और बहन बनाता है।"       

दस्तावेज़ के उद्देश्यों को सुनिश्चित करना साकार होगा

एक वक्तव्य में कहा गया है कि नई समिति को मानव भाईचारा के वैश्विक घोषणा के उद्देश्यों को सुनिश्चित करने के लिए एक रूपरेखा विकसित करने का काम सौंपा गया है। यह दस्तावेज़ को लागू करने के लिए आवश्यक योजनाएं तैयार करेगी, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तरों पर इसके कार्यान्वयन पर अनुवर्ती कार्रवाई करेगी तथा धार्मिक नेताओं, अंतरराष्ट्रीय संगठनों के शीर्ष अधिकारियों एवं अन्य लोगों के साथ सभाओं का आयोजन करेगी जो इस ऐतिहासिक दस्तावेज का समर्थन एवं सहयोग करते हैं।   

इसके अलावा, उच्च समिति विधायी अधिकारियों से आग्रह करेगी कि वे राष्ट्रीय कानून में दस्तावेज़ के प्रावधानों का पालन करें ताकि आपसी सम्मान और सह-अस्तित्व के मूल्यों को स्थापित किया जा सके। यह अब्राहम के परिवार हाउस (यहूदी, ख्रीस्तीय और मुस्लिम) की देखरेख भी करेगी, जिसे क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने पोप फ्रांसिस की यात्रा की स्मृति में स्थापित किया था और जो अंतर-विश्वास सद्भाव के लिए समर्पित है।

समिति के सदस्य

समिति में अंतरधार्मिक वार्ता के लिए गठित परमधर्मपीठीय समिति के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष मिग्वेल अंजेल अयूसो ग्वीकक्षोत, अल अजहर विश्व विद्यालय के अध्यक्ष प्रोफेसर मोहम्मद हुस्साईन महरास्वी, संत पापा फ्राँसिस के निजी सचिव मोनसिन्योर योअनिस लाहजी गाइड, ग्रैंड इमाम के सलाहकार जज मोहम्मद महमूद अब्देल सलाम, अबु धाबी में संस्कृति एवं पर्यटन विभाग के अध्यक्ष मोहमद खलीफा एल मुबारक, मुस्लिम काउंसिल ऑफ एल्डर्स के महासचिव डॉ. सुल्तान फैसल अल रुमिथि और अमीरात के लेखक और मीडिया प्रतिनिधि यासर हरेब अल मुहारी हैं।

वक्तव्य के अनुसार शेईख मोहमद बिन जायेद ने कहा है कि समिति का गठन सहिष्णुता, सहयोग और सह-अस्तित्व को बढ़ावा देने के लिए विकासशील प्रयासों और विचारों के साझा दृष्टिकोण को लागू करने में मदद करेगा।

21 August 2019, 15:41