खोज

Vatican News
लीबिया में शरणार्थियों एवं आप्रवासियों का हिरासत केन्द्र  लीबिया में शरणार्थियों एवं आप्रवासियों का हिरासत केन्द्र   (ANSA)

शरणार्थी एवं आप्रवासी केंद्र पर हमले की यूनिसेफ ने की निंदा

संयुक्त राष्ट्र संघीय बाल निधि यूनीसेफ ने लिबिया के त्रिपोली शहर स्थित शरणार्थी एवं आप्रवासी केन्द्र पर हमले की कड़ी निन्दा की है तथा सभी संघर्षरत दलों से अपील की है कि वे मानव जीवन का सम्मान करें।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

लिबिया, शुक्रवार, 5 जुलाई 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो): संयुक्त राष्ट्र संघीय बाल निधि यूनीसेफ ने लिबिया के त्रिपोली शहर स्थित शरणार्थी एवं आप्रवासी केन्द्र पर हमले की कड़ी निन्दा की है तथा सभी संघर्षरत दलों से अपील की है कि वे मानव जीवन का सम्मान करें।

ताजौरा शरणार्थी केंद्र पर हमला भयावह

गुरुवार को एक विज्ञप्ति प्रकाशित कर यूनीसेफ की निर्देशिका एनरीयेत्ता फोरे ने कहा कि त्रिपोली में, "ताजौरा शरणार्थी केंद्र पर किया गया हमला कई मामलों में भयानक है। लीबिया में बच्चों सहित शरणार्थियों और प्रवासियों को अपमानजनक परिस्थितियों में रखा जाता है जिन्हें किसी भी हालत में आक्रमणों का लक्ष्य नहीं बनाया जाना चाहिये और न ही उनकी आप्रवासी स्थिति के कारण उन्हें हिरासत में लिया जाना चाहिए।"

लिबिया में यूनीसेफ के प्रतिनिधि अब्दुल रहमान गाँधौर ने विज्ञप्ति में कहा, "हम ताजौरा शरणार्थी केंद्र पर हमले की निंदा करते हैं, जहाँ कम से कम 600 प्रवासियों और शरणार्थियों ने शरण ले रखी थी, जिनमें बच्चे भी शामिल हैं, हम विशेष रूप से बच्चों की सुरक्षा का आह्वान करते हैं और मांग करते हैं कि सभी शरणार्थी बच्चों को हिरासत से मुक्त किया जाये।"

आप्रवासियों पर गोलाबारी

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि उसे रिपोर्ट मिली है कि लिबियाई गार्डों ने उन आप्रवासियों और शरणार्थियों पर गोलीबारी की जिन्होंने मंगलवार को लीबिया की राजधानी त्रिपोली के पास स्थित एक हिरासत केन्द्र से भागने की कोशिश की थी। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार ताजौरा पर गोलीबारी में गोलीबारी में कम से कम 53 आप्रवासियों की मौत हो गई है। इसी बीच, मानवाधिकारों सम्बन्धी संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त मिखेल बैखलैट ने कहा है कि त्रिपोली में हुई गोलाबारी को युद्ध अपराध माना जा सकता है।

लिबियाई सरकार तथा विद्रोही लड़ाका दल एक दूसरे को हमले के लिये ज़िम्मेदार ठहरा रहे हैं।

 

05 July 2019, 11:08