Cerca

Vatican News
श्रीलंका गिरजाघर के सामने लोग श्रीलंका गिरजाघर के सामने लोग  (AFP or licensors)

श्रीलंका में रविवार को लगा कर्फ्यू,स्कूल-कॉलेज बंद

श्रीलंका में रविवार दोपहर 3 बजे कर्फ्यू लगा दिया गया था। स्कूलों और विश्वविद्यालयों को बंद कर दिया गया है। कम से कम 228 लोग मारे गए हैं और 470 लोग घायल हुए हैं। कोलम्बो में दो अन्य विस्फोट हुए, जिसके परिणामस्वरूप तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

कोलम्बो, सोमवार 22 अप्रैल 2019 (एशिया न्यूज) : श्रीलंका के अधिकारियों ने रविवार दोपहर 3 बजे से देश भर में कर्फ्यू लगा दिया गया था तीन होटलों और कोलम्बो, नेगोंबो, और बटियाकोला में तीन गिरजाघरों पर कई हमलों के बाद एलान किया गया।

पुलिस ने लोगों से कहा है कि वे विस्फोट स्थलों का दौरा न करें और न ही उन अस्पतालों के बाहर रहें जहां पीड़ितों को ले जाया गया है। शिक्षा मंत्रालय ने अगले दो दिनों के लिए सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है। देश के विश्वविद्यालय भी अगली सूचना मिलने तक बंद रहेंगे। पुलिस के मुताबिक अब तक हुए आठ धमाकों में 290 लोगों की मौत हो गई है और लगभग 500 लोग घायल हैं। मृतकों में 27 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक मरने वालों में आठ भारतीय हैं।

बीबीसी अनुसार श्रीलंका के प्रधानमंत्री रनिल विक्रमासिंघे ने कहा कि बम धमाकों के सिलसिले में कम से कम 24 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है।

गिरफ़्तार किए गए सभी लोग श्रीलंका के ही नागरिक हैं। इन लोगों के किसी अंतरराष्ट्रीय संगठन से संपर्कों की भी जांच की जा रही है। अभी तक किसी भी संगठन ने इन धमाकों की ज़िम्मेदारी नहीं ली है।

प्रधानमंत्री का कहना है कि ऐसा प्रतीत होता है कि संभावित हमलों के बारे में पुलिस के पास पहले से जानकारी थी लेकिन कैबिनेट को इस बारे में जानकारी नहीं दी गई थी।

हमलों के बाद रविवार को समूचे श्रीलंका में कर्फ्यू लगा दिया गया था, जिसे सोमवार सुबह हटा लिया गया। सोशल मीडिया को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है।

कार्डिनल माल्कम रंजीत ने धमाकों को "वहशी और अमानवीय" बताया।

22 April 2019, 15:43