खोज

Vatican News
ड्रग्स को लेकर राष्ट्रपति सिरिसेना का अभियान ड्रग्स को लेकर राष्ट्रपति सिरिसेना का अभियान  (AFP or licensors)

ड्रग्स से हमारे बच्चों को बचाना हमारा कर्तव्य है, कार्डिनल रंजीत

कोटाहेना (कोलोम्बो) में विस्वेके पार्क में ड्रग के खिलाफ आयोजित मंच पर कोलोम्बो के महाधर्माध्यक्ष रंजीत ने प्रदर्शन में भाग लिया। मंच पर राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना और प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे भी उपस्थित थे।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

कोलोम्बो, मंगलवार 2 अप्रैल 2019 (वाटिकन न्यूज) : यह "हमारा कर्तव्य है कि हम अपने बच्चों को ड्रग्स के खतरे से बचाने के प्रयास में राष्ट्रपति का समर्थन करें"। यह बात कार्डिनल रंजीत माल्कम ने ड्रग के खिलाफ प्रदर्शन में कही। कोटाहेना (कोलोम्बो) में विस्वेके पार्क में ड्रग के खिलाफ आयोजित मंच पर कोलोम्बो के महाधर्माध्यक्ष रंजीत ने प्रदर्शन में भाग लिया। मंच पर राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना और प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे भी उपस्थित थे।

ड्रग्स को लेकर राष्ट्रपति सिरिसेना का अभियान

हाल ही में, राष्ट्रपति सिरिसेना ने मादक पदार्थों की तस्करी के खिलाफ एक सख्त अभियान शुरू किया, साथ ही इससे संबंधित अपराधों के लिए मृत्युदंड की भी पुष्टि की। दर्जनों काथलिकों, बौद्धों और स्थानीय पुरोहितों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया। कई लोगों ने श्रीलंका में "नो टू ड्रग्स" प्रदर्शन के लिए अपना समर्थन व्यक्त किया। कोच्चीकेड की संत अंतोनी पल्ली, ग्रैंडपास की संत जोसेफ पल्ली और वेटाला की संत मेरी पल्ली ने जुलूस का आयोजन किया और विस्वेके पार्क में शामिल हुए।   

ड्रग्स को रोकने हेतु कार्ड रंजीत का प्रयास

31 मार्च को रविवारीय मिस्सा समारोह के अंत में धर्मशिक्षा पढ़ने बाले बच्चों सहित सभी प्रतिभागियों ने पोस्टर और बैनर उठाए, ड्रग्स के प्रसार के खिलाफ मौन में जुलूस किया। कार्डिनल रंजीत ने कहा, "अगर हम तुरंत कार्रवाई नहीं करते हैं, तो ड्रग्स का खतरा हमारी आर्थिक प्रणाली में प्रवेश करेगा। प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे ने कहा: "हमें पड़ोसी देशों से मदद की आवश्यकता है। हम इस कार्य को अकेले नहीं कर सकते"। एस्ट्राडा के संत अन्ना पल्ली के पल्लीवासियों ने एशियान्यूज से कहा कि "सभी धार्मिक नेताओं को नशीली दवाओं के प्रयोग का विरोध करना चाहिए। "साथ ही इस बात पर जोर देते हुए कहा कि," मृत्यु दंड को लागू करना सुविधाजनक नहीं है।"

02 April 2019, 17:12