Cerca

Vatican News
सीरिया के शरणार्थी सीरिया के शरणार्थी  

शरणार्थियों को वापस लौटने में मदद करें

लेबनान में प्रेरिताई हेतु नियुक्त अधिकारी मन्यावर जोसेफ स्पेतेरी ने सीरिया के शरणार्थियों के प्रति चिंता जाहिर करते हुए कहा कि उन्हें अपने जमींर में वापस लौटने हेतु मदद मिले जिससे वे सीरिया का पुनर्निर्माण कर सकें।

दिलीप संजय एक्का-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार 21 मार्च 2019 (रेई) “शरणार्थियों की सेवा अपने में बहुत कठिन है लेकिन लेबनान ने अपने अतिथ्य और मानवता का एक वृहद उदाहरण पेश किया है।” उक्त बातें लेबनान में प्रेरिताई हेतु नियुक्त मन्यावर जोसेफ स्पेतेरी ने कही। उन्होंने कहा कि युद्धग्रस्त सीरिया के शहरों से पलायन किये नागरिकों का लेबनान की सरकार और लोगों ने निष्ठापूर्ण ढ़ंग से अपने यहाँ स्वागत किया।

शरणार्थियों के लिए स्कूल और सेवा की गंरटी

जोसेफ ने बतलाया कि लेबनान में करीब एक मिलियन शरणार्थियों की संख्या है जो सीरियन और ईराकी है। इन सभी लोगों के लिए सेवा और शिक्षा की व्यवस्था की गई है जिससे बच्चे स्कूल जा सकें।

सीरिया लौटने की व्यवस्था

“यह हमारा कर्तव्य है कि हम उन्हें अपनी मातृभूमि में लौटने हेतु मदद करें, वाटिकन और स्थानीय कलीसिया से साथ काथलिक संस्थाएँ इस बात पर जोर देते हुए चिंतन कर रहीं हैं। जोसेफ ने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि इतनी अबादी के लिए अपने घर लौटने हेतु विधि व्यवस्था को व्यस्थित करने की जरुरत है। “करीबन 130 हजार सीरियन अपने देश वापस लौट गये हैं लेकिन यह एक लम्बी प्रकिया है जो बहुत सारी बातों में निर्भर करती है।”

वार्ता का महत्व

कलीसिया और अधिकारियों ने इस मुद्दे पर मानवीय यर्थाथ संगठनों से वार्ता शुरू की है जिससे प्रकिया उठने वाले सामान्य कठिनाइयों का निदान निकाला जा सकें। “सीरिया की भलाई इसी में है कि हम उनके नागरिकों को वापस उनके देश में स्थापित करें जिससे वे अपने देश का पुनर्निर्माण कर सकें।”

ख्रीस्तियों की उपस्थिति

जोसेफ स्पेतेरी ने कहा कि कुछ मुस्लिम है जो ख्रीस्तियों को वापस लौटने हेतु आग्रह कर रहें हैं क्योंकि ख्रीस्तियों के बिना मध्यपूर्वी क्षेत्र अपने में पहले जैसा नहीं रह जाता है। सभी समुदायों का एक साथ मिलकर रहना देश के निर्माण में अहम योगदान देता है।

21 March 2019, 15:33