Cerca

Vatican News
आबू धाबी के संस्थापक समारक पर सन्त पापा फ्राँसिस आबू धाबी के संस्थापक समारक पर सन्त पापा फ्राँसिस  

आबू धाबी दस्तावेज़ अन्तरधार्मिक सम्वाद के लिये मार्गदर्शिका

वाटिकन न्यूज़ से बातचीत में वाटिकन स्थित परमधर्मपीठीय अन्तरधर्म सम्वाद परिषद के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष मिगेल आन्जेल आयुसो ने कहा कि सन्त पापा फ्राँसिस तथा अल अज़हर के खास ईमाम द्वारा आबू धाबी में हस्ताक्षरित दस्तावेज़ शान्ति के लिये एक अनमोल मार्गदर्शिका है जिसमें ऐसे संकेत निहित हैं जिनका प्रसार समस्त विश्व में किया जाना चाहिये।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 8 फरवरी 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो): संयुक्त अरब अमीरात में सन्त पापा फ्राँसिस की ऐतिहासिक यात्रा को विभिन्न धर्मों के बीच मैत्री और सम्वाद के लिये मील का एक पत्थर माना जा रहा है.

खाड़ी में सन्त पापा की यात्रा ऐतिहासिक

वाटिकन न्यूज़ से बातचीत में वाटिकन स्थित परमधर्मपीठीय अन्तरधर्म सम्वाद परिषद के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष मिगेल आन्जेल आयुसो ने कहा कि सन्त पापा फ्राँसिस तथा अल अज़हर के खास ईमाम द्वारा आबू धाबी में हस्ताक्षरित दस्तावेज़ शान्ति के लिये एक अनमोल मार्गदर्शिका है जिसमें ऐसे संकेत निहित हैं जिनका प्रसार समस्त विश्व में किया जाना चाहिये.   

धर्माध्यक्ष आयुसो ने कहा, "अरब अमीरात में अपनी यात्रा के दौरान सन्त पापा फ्राँसिस यथार्थ "शान्ति निर्माता" बने तथा "विश्व शांति और सहअस्तित्व हेतु मानव भाईचारा" शीर्षक से हस्ताक्षरित दस्तावेज़ हम सबसे आग्रह करता है कि हम धर्मों के बीच सम्वाद एवं शान्ति के अस्त्र बनें जिसकी विश्व को आज नितान्त आवश्यकता है. "

सम्वाद ज़रूरी बेहतर विश्व के लिये

धर्माध्यक्ष आयुसो ने कहा, "ख्रीस्तीय एवं इस्लाम धर्म के परमधर्मगुरुओं द्वारा हस्ताक्षरित उक्त दस्तावेज़ की जड़ें मानवजाति एवं उसके भविष्य को सुरक्षित रखने की ज़रूरत में मूलबद्ध हैं."

धर्माध्यक्ष आयुसो ने सम्प्रेषण माध्यम क्षेत्र में कार्यरत सभी मीडिया कर्मियों से अपील की कि वे उक्त दस्तावेज़ के प्रसार का हर सम्भव प्रयास करें ताकि बेहतर विश्व के निर्माण हेतु लोगों के बीच सम्वाद की संस्कृति, परस्पर सहयोग तथा आपसी समझदारी को प्रोत्साहित किया जा सके.

08 February 2019, 11:34