बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
मिस्र के कोप्टिक ख्रीस्तीय मिस्र के कोप्टिक ख्रीस्तीय  (AFP or licensors)

मिस्र में आतंकी हमला, 7 ख्रीस्तियों की मौत

मिस्र में कोप्टिक तीर्थयात्रियों के एक बस में आक्रमणकारियों ने हमला किया। वे देश को अशांत करना चाहते हैं, वे अपनी उपस्थिति से अवगत कराना चाहते हैं। उक्त बात कोप्टिक काथलिक धर्माध्यक्ष केरिलोस विल्लियम ने कही।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

मिस्र के मध्यवती क्षेत्र मिन्या में हुए इस हमले में सात लोगों की मौत हो गयी है तथा 13 लोग घायल हो गये हैं। हमले की जिम्मेदारी आईएस ने ली है।

असयूत के धर्माध्यक्ष ने कहा कि आतंकवादी यह बतलाना चाहते हैं कि मिस्र में कोई सुरक्षा नहीं है।

हमला ऐसे समय में हुआ है जब पर्यटन विभाग ने फिर से अपना काम शुरू किया है। इस समय लुक्सोर एवं अन्य पर्यटन स्थल लोगों से भरे हैं। महाधर्माध्यक्ष कैरिलोस ने कहा कि कॉप्टिक लोग ही है जो बिल भरते हैं।

स्थानीय अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार आतंकवादियों ने हमला तब किया जब शुक्रवार को बस द्वारा काहिरा से 150 मील की दूरी पर स्थित संत सामुएल तीर्थस्थल से तीर्थयात्री वापस लौट रहे थे। उन्होंने बस पर गोली चलाना शुरू कर दिया।

मिस्र में कोप्टिक ऑर्थोडोक्स कलीसिया के फेसबुक पोस्ट के अनुसार मरने वालों में छः एक ही परिवार के सदस्य थे।

आईएस ने स्वीकार किया है कि इस साल उनका यह पहला हमला है। एक वक्तव्य में आतंकवादियों ने दावा किया है कि उन्होंने 13 लोगों को मार डाला है और 18 लोगों को घायल कर दिया है तथा कहा है कि हमला उनकी एक समर्थक महिला को मिस्र की सरकार द्वारा कैद किये जाने का बदला है।

03 November 2018, 16:40