Cerca

Vatican News
श्रीलंका संसद भवन श्रीलंका संसद भवन  (ANSA)

धर्मगुरुओं द्वारा राजनीतिक रुख को खत्म करने का आह्वान

श्रीलंका के धर्मगुरुओं ने राजनीतिक संकट को खत्म करने की अपील की है जो राष्ट्र के लोकतंत्र को खतरे में डाल रही है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

कोलोम्बो, सोमवार 26 नवम्बर 2018 (उकान): माननीय इत्तेपेन धाममलंकर थेरो, माननीय कोटुगोडा धामवासा थेरो, धर्माध्यक्ष विंस्टन फर्नांडो और कार्डिनल मैल्कम रंजीत ने देश के कानूनी प्रधान मंत्री होने का दावा करने वाले दो पुरुषों पर केंद्रित एक संवैधानिक संकट को हल करने के लिए श्रीलंका के सांसदों के समक्ष एक बयान जारी किया।

धर्मगुरुओं के बयान में लिखा, "आप में से प्रत्येक ने लोगों के विकास और कल्याण के लिए पूरी तरह से सुशासन बनाए रखने के आश्वासन के साथ संसद में प्रवेश करने के लिए लोगों के जनादेश को सुरक्षित किया है।"

"यह आपकी सामूहिक ज़िम्मेदारी है कि इस जनादेश को धोखा न दें बल्कि लोगों द्वारा सामना की जाने वाली समस्याओं का समाधान ढूंढें।

"देश के भीतर एक सुनिश्चित और सार्थक कदम उठाने के लिए कानून के शासन की सर्वोच्चता, शांति और सद्भावना प्रचलित है, जबकि शासन के लोकतांत्रिक सिद्धांतों की रक्षा और पोषण की हम कामना करते हैं।”  

26 November 2018, 15:55