Cerca

Vatican News
चीन का लियोचेंग शहर चीन का लियोचेंग शहर  (AFP or licensors)

चीन के विश्वासियों द्वारा गिरजाघर ध्वस्त किये जाने का विरोध

लियो चेंग गिरजाघर का निर्माण चीन गणराज्य के प्रारंभिक वर्षों में किया गया था। अधिकारियों के अनुसार गिरजाघर के आवश्यक कागजात नहीं हैं। स्थानीय काथलिकों ने सरकारी अधिकारियों द्वारा अंतिम इमारत को ध्वस्त किये जाने से रोकने के लिए बैनर लगाया तथा भक्ति गीत गाया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

लिओ चेंग, बृहस्पतिवार, 22 नवम्बर 2018 (एशियान्यूज)˸ लियो चेंग शहर में सरकारी अधिकारी ने कई इमारतों को ध्वस्त कर दिया जिनका निर्माण आधिकारिक तिथि अनुसार 1930 के आस-पास किया गया था। ध्वस्त इसलिए किया गया क्योंकि उन इमारतों का आवश्यक कागजात नहीं था। ध्वस्त किये जाने की सूची में काओचेंग काथलिक पल्ली के इमारत भी हैं।  

सरकार द्वारा ध्वस्त कराने के कार्य को देखते हुए स्थानीय काथलिक कलीसिया के सदस्य चुप नहीं रह सके, उन्होंने बचे हुए इमारतों को ध्वस्त किये जाने से बचाने के लिए बैनर लगाया तथा प्रदर्शन किया।

इमारतों को 11 नवम्बर को ध्वस्त किया गया जब स्थानीय सरकारी अधिकारी बिना पूर्व सूचना के ध्वस्त करने वाले एक दल के साथ वहाँ आये। काथलिकों ने सरकारी अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन किया किन्तु उन्हें कोई उत्तर नहीं मिला। तब कलीसिया के सदस्यों ने शांतिमय ढंग से ध्वस्त करने वाली मशीन में बैनर लगाया जिसमें लिखा था, "अवैध विध्वंस का वाहन, आओ एक को रोकें, कभी पीछे न हटें।"

कलीसिया की एक महिला सदस्य ने उस स्थल पर क्रूस लगाया तथा अन्य सदस्यों ने मिलकर गाना गाया। दूसरे बैनर भी लगाये गये जिनमें लिखा था, "कलीसिया के वैध अधिकारों और हितों की रक्षा करें। अवैध विध्वंस का दृढ़ता से विरोध करें।" एक दूसरे बैनर में लिखा था, "धन्य हैं वे जो अत्यचार सहते हैं।"

काओचेंग में काथलिक गिरजाघर काओचेंग दक्षिण स्ट्रीट की पश्चिमी ओर स्थापित है जिसका निर्माण चीन रिपब्लिक के आरम्भिक दिनों में किया गया था तथा यह 40 एकड़ क्षेत्रफल में फैला है।

घरों का निर्माण चीनी पद्धति से की गयी है। वास्तव में, यह एक मठ था जहाँ चीन की माता मरियम की धर्मबहनें रहती थीं। यह उस प्रांत में चार बड़े महिला मठों में से एक था।

जिनान में इस साल के आरम्भ से अब तक कम से कम तीन काथलिक इमारतों को ध्वस्त किया गया है। काओचेंग का इमारत प्रांत का चौथा घर है जिसको सरकार ध्वस्त करना चाहती है।

22 November 2018, 16:31