बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
पाकिस्तान में एक ख्रीस्तीय की हत्या पर शोक मनाते विश्वासी पाकिस्तान में एक ख्रीस्तीय की हत्या पर शोक मनाते विश्वासी  (AFP or licensors)

पाकिस्तान में शांति और एकता की पहल की सराहना, संत पापा

रविवार 28 अक्टूबर को पोलैण्ड की कलीसिया प्रताड़ित कलीसिया की 10वीं एकात्मकता दिवस मनायेगी।

दिलीप संजय एक्का-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 26 अक्टूबर 2018 (रेई) संत पापा फ्राँसिस ने बुधवारीय आमदर्शन समारोह में “जरूरतमंद कलीसिया की सहायता” हेतु गठित परमधर्मपीठीय समिति और पोलैंड धर्माध्यक्षीय सम्मेलन जिसकी अगुवाई में शांति और एकता की एक पहल शुरू की गई है उनके प्रति अपनी कृतज्ञता अर्पित की।

अपनी कृतज्ञता के भाव में उन्होंने कहा कि इस वर्ष की वित्तीय सहायता पाकिस्तान की कलीसिया को दी जायेगी। विदित हो कि पाकिस्तान की कलीसिया “दैनिक प्रताड़ना की शिकार” होती है जिसमें वहाँ के ख्रीस्तीय विश्वासियों को अपने विश्वास का परित्याग करने हेतु दबाव डाला जाता है।

शिक्षा और नौकरी के अवसर

यूनाईटेड किंडम से एसीएन अधिकारी जोन पोन्टीफेक्स ने वाटिकन रेडियो से वार्ता करते हुए कहा, “पाकिस्तान की कलीसिया के संबंध में कहा जाये तो वहाँ के ख्रीस्तीय विश्वासियों को दूसरे दर्जे के नागरिकों के रुप में देखा जाता है।” उन्होंने कहा कि उनके लिए नौकरी के अवसर एकदम निम्न हैं और इतना ही नहीं उनकी शिक्षा को लेकर पूरा देश ख्रीस्तियों के साथ सौतेला व्यवहार करता है।

बढ़ते चरमपंथ को लेकर उन्होंने कहा कि ख्रीस्तीय और दूसरे अल्पसंख्यक अपने में सदैव गंभीर खतरे और मौत की स्थिति से घिरे होते हैं।

देश में ईशनिंदा नियम कानून के विषय में उन्होंने कहा कि ख्रीस्तियों को इस नियम के छिछलेपन के कारण पैगम्बर मोहम्मद और कुरान के अपमान का दोष लगाया जाता है।

आसिया बीबी

ईशनिंदा से संबंधित कानून को लेकर आसिया बीबी पर चल रहा मुकदमा अपने में एक हाई प्रोफाईल केस है। पांच बच्चों की मां आसिया बीबी सन् 2010 के नवम्बर महीने में हिरासत में ली गई है जिसे मृत्युदंड की सजा सुनाई गई है। जुलाई 2015 में पाकिस्तान के सर्वोच्च न्यायालय ने उसकी मृत्युदंड की अपील को खारिज कर दिया। वह अपनी आखरी सुनाई की प्रतीक्षा में है और  विश्व के लोग उनके लिए प्रार्थना कर रहें है ताकि उसे जमानत मिल सके।

26 October 2018, 16:32