बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
सीरिया इदलिब संघर्ष सीरिया इदलिब संघर्ष  (AFP or licensors)

विद्रोहियों के आखिरी गढ़ इदलिब पर सबकी निगाहें

सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद के प्रति वफादार सैनिकों और उनके सहयोगियों की नजर इदलिब पर है जो सीरिया में विद्रोहियों का आखिरी प्रमुख गढ़ है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

इदलिब, सोमवार 3 सितम्बर 2018 (वाटिकन न्यूज) : सीरिया के उत्तर-पश्चिमी इदलिब क्षेत्र में लगभग तीन मिलियन लोग रहते हैं जो देश के अन्य युद्ध-ग्रस्त हिस्सों से आये हुए शरणार्थी हैं। राष्ट्रपति असद ने इदलिब में केवल विपक्षी सेनानियों को लक्षित करने का वादा किया है, लेकिन कुछ सहायता समूहों को डर है कि युद्ध में आमलोग भी बड़ी संख्या में हताहत होंगे।

जोखिम में बच्चे

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) का कहना है कि हमले की स्थिति में दस लाख से अधिक बच्चों को खतरे का सामना करना पड़ सकता है। वहाँ स्वच्छ पानी, दवा और खाद्य आपूर्ति प्रदान करने के लिए आकस्मिक योजनाएं तैयार की गई हैं।

हाल के महीनों में रूस और ईरान के समर्थन से सीरिया की सरकार ने पूरे देश में विद्रोहियों और जिहादी समूहों के ख़िलाफ आक्रामक अभियान बढ़ा दिया है।

सीरिया को चेतावनी

वाशिंगटन ने चेतावनी दी है कि वह असद सरकार और उनके सहयोगियों को इदलिब में किसी भी तरह की हिंसा के लिए जिम्मेदार ठहराएगा, जिसमें रासायनिक हथियार भी शामिल हैं।

सीरिया के लगभग 7 मिलियन लोग अन्य देशों में शरण लिये हुए हैं। 2011 में शुरू हुए इस संघर्ष में 350,000 से अधिक लोगों को मारे गये हैं और द्वितीय विश्व युद्ध से भी अधिक समय तक यह संघर्ष चल रहा है।

03 September 2018, 16:12