बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
पानी जमा करती भारतीय महिलाएं पानी जमा करती भारतीय महिलाएं  (AFP or licensors)

“विश्व जल सप्ताह” में डब्ल्यूसीसी

विश्व कलीसियाओं की समिति (डब्ल्यूसीसी) स्वीडन के स्टाकहोल्म में “विश्व जल सप्ताह” के दौरान “जल और विश्व” विषयवस्तु पर वार्ता करेंगे

वाटिकन सिटी,गुरुवार 16 अगस्त 2018 (रेई) 30 अगस्त को स्वीडन के स्टॉकहोल्म में “जल और विश्वास” विषयवस्तु पर एक वार्ता का आयोजन किया गया है जो सार्वजनिक और निजी रुप में कार्यरत संगठनों द्वारा सभों के लिए जल व्यवस्था के न्याय पर जोर देता है।

कई संस्थानों की प्रतिभागिता

इस विचार वार्ता संगोष्टी का आयोजन अन्तरराष्ट्रीय विश्व जल संस्थान, वैश्विक जल भागीदारी, विश्व कलीसियाओं की समिति, स्वीडन के अलेक्सजाडिया संस्थान, स्वीडन की कलीसिया के अलावे जर्मनी की जीईजेड द्वारा आयोजित की गई जिसके तहत कई तरह की रणनीतिक और योजनाओं पर विचार विमार्श किये जायेंगे।
विश्व कलीसियाओं की समिति के धर्माध्यक्ष अरन्डो टेम्पल, अफ्रीकी कलीसियाई सम्मेलन के अधिकारियों के अलावे इस संगोष्ठी में मुफ्ती मो. जौबी, आमान, जार्डन के मुफ्ती, वाटिकन और संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रतिनिधि जल से सबंधित अपने विचारों को एक दूसरे के संग साझा करेंगे।

बोतल नहीं नल का पानी पीयें

टेम्पल इस बात पर प्रकाश डालेंगे कि डब्ल्यूसीसी किस तरह “ब्लू क्मयूनिटि” बन गया जो विश्व के सभी लोगों के लिए जल व्यवस्था पर बल देता और इसके लिए निष्ठापूर्ण ढ़ग से कार्य करता है। यह लोगों को बोतल के पानी का उपयोग करने के बदले नल का पानी पीने पर जोर देता है। वे इस बात की भी चर्चा करेंगे कि विश्वास पर बल देने वाली संस्थाएं कैसे संयुक्त राष्ट्र संघ के सतत विकास लक्ष्य को कार्यान्वित कर सकेंगे जो “सभों के लिए स्वच्छ पानी और इसकी उपलब्धता और टिकाऊ प्रबंधन” पर बल देता है।
"जल, पारिस्थितिक तंत्र और मानव विकास" विषय के तहत इस वार्ता संगोष्ठी का आयोजन 26-31 अगस्त को किया गया है जिसमें 135 देशों से 3,000 से अधिक पंजीकृत प्रतिभागी भाग लेंगे।
 

16 August 2018, 16:36