बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
जेनोवा का टूटा पुल जेनोवा का टूटा पुल  (ANSA)

जेनोवा में पुल गिरा, 35 लोगों के मौत की आशंका

इटली के उत्तर पश्चिमी शहर जेनोवा में एक पुल ढह जाने से 35 लोगों की मौत हुई। मरने वालों में एक बच्चा भी शामिल है।

माग्रेट सुनीता मिंज - वाटिकन सिटी 

जेनोवा, बुधवार 15 अगस्त 2018 (रेई) :  मंगलवार को इटली के जेनोवा शहर में एक लम्बे पुल के टूट जाने से पुल पर मौजूद करीब 30-35 कारें भी नीचे आ गिरे। पुल स्थानीय समयानुसार 11 बजकर 30 मिनट पर गिरा। पुल गिरने की वजह तेज़ बारिश बताई जा रही है।

ये पूरा हादसा कैमरे में भी क़ैद हो गया है। वीडियो और तस्वीरों के जरिए जानकारी मिली है कि भारी बारिश के दौरान पुल का एक खंभा गिर पड़ा। पुल टूटने के बाद इसका मलबा क़रीब 45 मीटर नीचे आ गया और पास के रेलवे ट्रैक, इमारतों और एक नदी में बिखर गया।

बचाव में जुटे एक कर्मचारी ने इटली की समाचार एजेंसी अन्सा को बताया कि पुल के बाकी हिस्से के भी गिरने का ख़तरा है। इसे लेकर आस-पास की इमारतों को खाली कराया जा रहा है।

मोरांडी ब्रिज

इस पुल का नाम मोरांडी ब्रिज है। इसका निर्माण साल 1960 में हुआ था। यह पुल ए10 टोल पर पड़ता है। यह पुल इटली के तटीय क्षेत्र रिवेरा और फ्रांस के दक्षिण तटीय इलाके को जोड़ने वाली सड़क पर है। लिग्युरिया प्रांत के गवर्नर जोवान्नी तोती का कहना है कि इस पुल का गिरना एक एक बहुत बड़ा हादसा है और यह सिर्फ़ जेनोवा के लिए नहीं बल्कि पूरे देश के लिए एक दुःखद घटना है।

"मोरांडी ब्रिज देश के तीन प्रमुख बंदरगाहों को जोड़ता है, जिसका इस्तेमाल हज़ारों लोग करते हैं। वे छुट्टियां मनाने के लिए इन बंदरगाहों से निकलते हैं। ये बंदरगाह सामानों के आयात के लिए अति महत्वपूर्ण है। इस पुल के ढ़ह जाने से देश के सैन्य-तंत्र पर भी असर होगा। हम इस हादसे को लेकर सरकार की ओर से त्वरित कार्रवाई किए जाने की उम्मीद कर रहे हैं।"

15 August 2018, 15:37