Cerca

Vatican News
यूएन उच्चायुक्त फिलिपो ग्रांडी (बांये) शरणार्थियों के लिए यूएन. महानिदेशक, विलियम लेसी स्विंग( दायें) यूएन उच्चायुक्त फिलिपो ग्रांडी (बांये) शरणार्थियों के लिए यूएन. महानिदेशक, विलियम लेसी स्विंग( दायें)  (ANSA)

संयुक्त राष्ट्र संयुक्त प्रवासन पर पहले वैश्विक समझौते पर सहमत

संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देश शुक्रवार को पहली बार, अंतरराष्ट्रीय प्रवासन को बेहतर तरीके से प्रबंधित करने के लिए एक वैश्विक समावेशी कॉम्पैक्ट पर सहमत हुए।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

न्यूयॉर्क के संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों, स्थानीय अधिकारियों, नागरिक समाज और प्रवासियों के बीच एक वर्ष से अधिक चर्चाओं और परामर्श के बाद, सुरक्षित, व्यवस्थित और नियमित प्रवासन के लिए वैश्विक समझौते का अंतिम रूप शुक्रवार को दिया गया।

ऐतिहासिक सौदा पर अंतिम अंतर सरकारी वार्ताओं पर, सह-सुविधाकारियों, मैक्सिकन राजदूत जुआन जोसे गोमेज़ कामाखो और स्विस राजदूत जुर्ग लाउबर ने समझौते को चिह्नित करने में सफल हुए।

एक उल्लेखनीय उपलब्धि

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने इस समझौते को "एक महत्वपूर्ण उपलब्धि" के रूप में वर्णित किया। अंतरराष्ट्रीय प्रवासन पर महासचिव के विशेष प्रतिनिधि लुईस आर्बर भी सर्वसम्मति से समझौते को अपनाए जाने के प्रति आशावादी थे।

उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में संवाददाताओं से कहा, "मुझे लगता है कि संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देश आज बहुत ही बधाई देने के पात्र हैं," यह एक उल्लेखनीय प्रक्रिया थी साथ ही यह एक उल्लेखनीय उपलब्धि भी थी।"

सहयोग करने के लिए सदस्य देशों द्वारा समझौते

संयुक्त राज्य अमेरिका को छोड़कर सभी 193 सदस्य राष्ट्रों द्वारा अनुमोदित 23 उद्देश्यों पर गैर-बाध्यकारी समझौता, राष्ट्रीय संप्रभुता और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के मुद्दों के बीच प्रवास को सुरक्षित और व्यवस्थित करना है।

शुक्रवार के ऐतिहासिक समझौते के दौरान हंगरी के विदेश मंत्री पीटर ने राजनयिकों से कहा कि उनकी सरकार महत्वपूर्ण बिंदुओं से असहमत है और बुधवार को एक बैठक में समझौते से "विघटन की संभावना" पर चर्चा करेगी।

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख की नैतिक दृष्टिकोण को याद कराते हुए, आर्बर ने इसके अर्थ को रेखांकित करते हुए कहा कि चाहे वह कानूनी रूप से बाध्य हो या कानूनी रूप से बाध्य न हो - यह सदस्य देशों द्वारा सहयोग करने हेतु एक समझौता है।

उन्होंने गौर किया कि ग्लोबल समझौता लोगों के बारे में है, व्यापार, पूंजी और सामान के बारे नहीं, हालांकि उनमें से सभी पर आर्थिक प्रभाव पड़ता है, इसलिए समझौता मानव केंद्रित और दूरदर्शी हो।

माराकेश के लिए तत्पर हैं

यह समझौता 11-12 दिसंबर को माराकेश, मोरक्को में एक मंत्रिस्तरीय बैठक में औपचारिक रूप से अपनाया जाएगा।

आर्बर को बहुत उम्मीद है कि मराकेश सभा "पहलों, साझेदारी, अभिनव प्रथाओं, ठोस अनुप्रयोगों, प्रतिज्ञाओं और प्रतिबद्धताओं के लिए "शुरुआती मंच"होगी।

16 July 2018, 16:34