खोज

Vatican News
कोविड-19 वैक्सिन के साथ स्वास्थ्यकर्मी कोविड-19 वैक्सिन के साथ स्वास्थ्यकर्मी 

जीवन के लिए गठित परमधर्मपीठीय अकादमी : "वैक्सिन राष्ट्रवाद" को न

जीवन के लिए गठित परमधर्मपीठीय अकादमी ने "वैक्सिन राष्ट्रवाद" से ऊपर उठने के महत्व पर जोर दिया है जिससे कि सभी को वैक्सिन लेने का अवसर प्राप्त हो सके और कोविड-19 के खिलाफ लड़ने में कोई पीछे न रहे।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 23 जनवरी 2021 (रेई)- जीवन के लिए गठित परमधर्मपीठीय अकादमी ने चेतावनी दी है कि "कोविड-19 वैक्सिन के उत्पादन एवं वितरण से उत्पन्न होनेवाली गंभीर समस्या का सामना करते हुए पारदर्शिता एवं सहयोग के लिए उचित प्रणाली की पहचान करना एक अत्यावश्यकता बन गयी है।" "विरोध और प्रतियोगिता तथा गंभीर अन्याय का खतरा बहुत अधिक हो गया है।"

जीवन के लिए गठित परमधर्मपीठीय अकादमी के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष विन्चेंसो पालियो एवं कुलपति मोनसिन्योर रेंसो पोगोरारो द्वारा हस्ताक्षरित वक्तव्य में संत पापा फ्राँसिस द्वारा क्रिसमस के दिन उर्बी एत ओर्बी संदेश में किये गये अविलंब आग्रह की याद की गई है, जिसमें उन्होंने कहा है- मैं सभी से आग्रह करता हूँ – सरकारी नेताओं, व्यावसायी, अंतरराष्ट्रीय संगठन – कि आपसी सहयोग को बढ़ावा दें न कि प्रतियोगिता को, और सभी के लिए समाधान खोजें, वैक्सिन सभी के लिए हो, खासकर, ग्रह के हर क्षेत्र के सबसे कमजोर एवं जरूरतमंद लोगों पर ध्यान दिया जाए।"

वक्तव्य में कहा गया है कि इसके लिए "भली इच्छा रखनेवाले सभी पुरूषों एवं महिलाओं को जिम्मेदारी पूर्वक सुनने की आवश्यकता है।"

विशेष दस्तावेज

वक्तव्य में संयुक्त दस्तावेज की भी याद की गई है जिसको 29 दिसम्बर को समग्र मानव विकास के लिए गठित परमधर्मपीठीय परिषद एवं जीवन के लिए गठित परमधर्मपीठीय अकादमी द्वारा प्रकाशित की गयी थी। दस्तावेज में वैक्सिन लेने एवं उन तौर-तरीकों के महत्व पर प्रकाश डाला गया है जो वैक्सिन को हरेक व्यक्ति के आमहित के लिए उपलब्ध कर सकें।

दस्तावेज में एक प्रमुख आयाम पर जोर दिया गया है वह है "'वैक्सिन राष्ट्रवाद' के तर्क से ऊपर उठना"। इसमें कहा गया है कि वैक्सिन को दूसरों से पहले तथा अपने निवासियों के लिए आवश्यक मात्रा में प्राप्त करने की कोशिश के तर्क से ऊपर उठना है। जीवन के लिए गठित परमधर्मपीठीय अकादमी ने आगे कहा है कि "अंतर्राष्ट्रीय समझौतों और लाइसेंस के प्रबंधन को बढ़ावा देना चाहिए ताकि उत्पाद तक हर किसी की पहुंच आसान हो सके और संभावित 'कमर्शियल शॉर्ट सर्किट' से बचा जा सके।" यह इसलिए भी आवश्यक है ताकि भविष्य में कीमत को नियंत्रण में रखा जा सके; यह वैक्सिन के औद्योगिक उत्पादन, राष्ट्रों, दवा कम्पनियों और अन्य संगठनों के बीच एक सहयोगपूर्ण कार्य बन सके जिससे कि विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में इसे एक साथ लिया जा सके।  

अंततः, वक्तव्य में जोर दिया गया है कि "यह एक नये, अधिक सहयोगी भविष्य के लिए एक असाधारण अवसर है।" सार्वभौमिक पहुंच के संदर्भ में सहमत लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए उपकरणों की एक श्रृंखला को निर्दिष्ट और कार्यान्वित किया जाना चाहिए। इस तरह, संत पापा की अपील को सभी लोगों के लिए साकार किया जा सकता है।

 

23 January 2021, 13:16