खोज

Vatican News
बैंकॉक में क्रिसमस मिस्सा के बाद घर लौटता एक ख्रीस्तीय परिवार बैंकॉक में क्रिसमस मिस्सा के बाद घर लौटता एक ख्रीस्तीय परिवार  (AFP or licensors)

पारिवारिक प्रेम का साक्ष्य देने हेतु विशेष वर्ष

समकालीन चुनौतियों का सामना करने वाले परिवारों के साथ आध्यात्मिक, प्रेरितिक और सांस्कृतिक पहल करना लोकधर्मी,परिवार तथा जीवन के लिए गठित परमधर्मपीठीय विभाग का प्रस्ताव है। इस परियोजना का उद्देश्य "अमोरिस लेतिसिया फैमिली" वर्ष को मनाने में पल्लियों,धर्मप्रांतो, विश्वविद्यालयों और कलीसियाई संगठनों का समर्थन करना है, जिसकी घोषणा संत पापा फ्राँसिस ने की है।

 माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन न्यूज

वाटिकन सिटी, सोमवार 28 दिसम्बर, 2020 (वाटिकन न्यूज) : प्रेरितिक उद्बोधन ‘अमोरिस लेतिसिया’ की पांचवीं वर्षगांठ के अवसर पर पारिवारिक प्रेम की सुंदरता और खुशी पर, संत पापा फ्राँसिस "अमोरिस लेतिसिया फैमिली" (पारिवारिक जीवन का आनंद) वर्ष का उद्घाटन 19 मार्च 2021 को करेंगे और यह वर्ष रोम में परिवारों के विश्व बैठक के दौरान 26 जून 2022 को समाप्त होगा।  इस बैठक में संत पापा फ्राँसिस उपस्थित रहेंगे।

परिवार, घरेलू कलीसिया

परमधर्मपीठीय विभाग ने वर्ष की घोषणा करते हुए एक बयान में कहा, "महामारी के अनुभव ने घरेलू कलीसिया के रूप में परिवार की केंद्रीय भूमिका को उजागर किया है और परिवारों के बीच सामुदायिक संबंधों के महत्व को दर्शाया है।" "आध्यात्मिक, प्रेरितिक और सांस्कृतिक पहलों के माध्यम से ‘पारिवारिक जीवन का आनंद वर्ष’ में योजना बनाई गई है। संत पापा फ्राँसिस का इरादा दुनिया भर में सभी कलीसियाई समुदायों को संबोधित करना है और प्रत्येक व्यक्ति को पारिवारिक प्रेम का गवाह बनने के लिए प्रेरित करना है।"

समुदायों की सेवा में प्रशिक्षण उपकरण

बयान में कहा गया है कि परमधर्मपीठीय विभाग "शादी की तैयारी के लिए पारिवारिक आध्यात्मिकता, प्रशिक्षण और प्रेरितिक गतिविधि, युवा लोगों के लिए स्नेहपूर्ण शिक्षा और विवाहित जोड़ों और परिवारों के लिए अपने संसाधनों को साझा करेंगे।" इसके अलावा, "अत्यधिक सामयिक मुद्दों के संबंध में प्रेरितिक उद्बोधन की सामग्री और निहितार्थों की गहराई से जांच करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय एकाडमिक संगोष्ठी का आयोजन किया जाएगा, जो दुनिया भर के परिवारों को प्रभावित करते हैं।"

‘पारिवारिक जीवन का आनंद वर्ष’ के उद्देश्य

वर्ष के औपचारिक उद्घाटन से पहले मार्च में, विभाग ने वर्ष "‘पारिवारिक जीवन का आनंद वर्ष’ के उद्देश्यों और पहलों की व्याख्या करते हुए एक सूचना विवरणिका (ब्रोशर) तैयार की है, जिसमें पल्लियों और धर्मप्रांतों के लिए ठोस सुझाव दी गई है।

पहला यह है कि लोगों के बीच प्रेरितिक उद्बोधन के विषय वस्तु को व्यापक रूप से साझा करना है, ताकि लोगों की "परिवार के सुसमाचार को एक खुशी के रूप में अनुभव करें जो उनकेदिल और जीवन को भर देता है। (अमोरिस लेतिसिया, 200)।" ब्रोशर कहता है, "एक परिवार जो कलीसिया और समाज के लिए एक उपहार होने की खुशी को पहचानता है और अनुभव करता है,  दुनिया के अंधेरे में एक प्रकाश बन सकता है।" (अमोरिस लेतिसिया, 66)

एक दूसरा उद्देश्य विवाह संस्कार के अनमोल मूल्य की घोषणा करना है, जिसमें "अपने आप में मानव प्रेम की एक परिवर्तित शक्ति है।"

इसके अतिरिक्त "परिवारों को प्रेरिताई के सक्रिय एजेंट बनने के लिए सक्षम बनाना" और "युवा लोगों को प्रेम की सच्चाई और स्वयं के उपहार के बारे में जागरूक करने के लिए प्रशिक्षण देना" शामिल है।

अंत में, वर्ष के दौरान परिवार को प्रेरितिक देखभाल की दृष्टिकोण और कार्रवाई को व्यापक बनाने के लिए आमंत्रित करना, ताकि यह और अधिक लोगों तक पहुँचाया जा सके और इसमें विवाहित जोड़े, बच्चों और युवा लोगों, बुजुर्गों और कठिन पारिवारिक परिस्थितियों का सामना कर रहे उन सभी परिवार के सदस्यों को शामिल किया जा सके।

परिवार और कलीसिया के बीच पारस्परिकता

एक विशेष पहलू जो "एमोरिस लेतिसिया फैमिली" वर्ष के संदर्भ में उभरता है, परिवारों के प्रेरितिक देखभाल के लिए प्रचारकों, सेमिनरियों और पुरोहितों के प्रशिक्षण में विवाहित जोड़ों की अधिक भागीदारी हो जिससे कि धर्मप्रांतीय और पल्ली स्तर पर परिवारों के साथ काम करते हुए वे आज की दुनिया की चुनौतियों का सामना कर सकें। परमधर्मपीठीय विभाग इस बात को रेखांकित करता है," यह 'परिवार-घरेलू कलीसिया' और कलीसिया (एएल, 200) के बीच पारस्परिकता बनाने के लिए महत्वपूर्ण होगा, ताकि प्रत्येक एक दूसरे की खोज और एक अपूरणीय उपहार को महत्व दे सके।"

एक और सुझाव है कि परिवारों में एक मिशनरी बुलाहट को बढ़ावा दिया जाए। (सीएफ एएल, 201, 230, और 324) विशेष रुप से संस्कार ग्रहण करने के लिए बच्चों को तैयार करते समय, शादी संस्कार लेने की तैयारी के दौरान और विशेष धर्मविधि समारोहों की तैयारी के दौरान।”

28 December 2020, 14:56