Vatican News
ग्रीस के लेसबोस स्थित अस्थायी शरणर्थी शिविर के बाहर, 22.09.2020  ग्रीस के लेसबोस स्थित अस्थायी शरणर्थी शिविर के बाहर, 22.09.2020  

प्रवासी एवं शरणार्थी दिवस से पूर्व वाटिकन का विडियो प्रकाशित

'निर्माण के क्रम में सहयोग करना तथा आन्तरिक विस्थापन की चुनौती का प्रत्युत्तर देना, इस वर्ष 27 सितम्बर को मनाये जा रहे आप्रवासी एवं शरणार्थी विश्व दिवस का विषय है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 25 सितम्बर 2020 (रेई,वाटिकन रेडियो): 'निर्माण के क्रम में सहयोग करना तथा आन्तरिक विस्थापन की चुनौती का प्रत्युत्तर देना, इस वर्ष 27 सितम्बर को मनाये जा रहे आप्रवासी एवं शरणार्थी विश्व दिवस का विषय है।

रविवार 27 सितम्बर को सार्वभौमिक काथलिक कलीसिया 106 वाँ आप्रवासी एवं शरणार्थी विश्व दिवस मना रही है। 1914 में इस दिवस की स्थापना की गई थी तब से यह प्रति वर्ष कमज़ोर  लोगों के प्रति चिंता व्यक्त करने तथा अपने घरों से पलायन कर अन्यत्र शरण खोजने के लिये बाध्य लोगों एवं उनके समक्ष प्रस्तुत गम्भीर चुनौतियों के प्रति जागरूकता बढ़ाने हेतु मनाया जाता रहा है।

इस सप्ताह, आप्रवासी एवं शरणार्थी विश्व दिवस से पूर्व अखण्ड मानव विकास सम्बन्धी परमधर्मपीठीय परिषद के आप्रवासी एवं शरणार्थी विभाग ने एक विशिष्ट विडियो प्रकाशित किया है। इस विडियो में कोलोम्बिया की 25 वर्षीय महिला लोरेना मारगेरिता पिनिल्ला रोज़ानो आन्तरिक रूप से विस्थापन का अपना अनुभव बयान करती है।

लोरेना के अनुभव

लोरेना बताती हैं कि वे 2012 में बोगोटा शहर आई थीं तथा विगत आठ वर्षों से यहीं जीवन यापन कर रही हैं। उन्होंने बताया कि हिंसा की वजह से उन्हें अपने परिवार सहित बोगोटा आना पड़ा था।  

लोरेना बताती है कि मध्यरात्रि को उन्हें अपना शहर चिबोलो मगद्लेना छोड़ना पड़ा, उन्होंने अपना सर्वस्व वहीं छोड़ दिया, जिसमें उनके पिता का खेत भी शामिल था जिसे विद्रोही गुरिल्लाओं ने आग के हवाले कर दिया था।  

नई शुरुआत

2015 में लोरेना ने बोगोटा शहर के एक उपनगर में एक छोटा-सा मकान ख़रीदा। इस समय वे येसु धर्मसमाज द्वारा संचालित शरणार्थी सेवा की एक लाभार्थी हैं और एक उद्यमी बनने के सपनों के क़रीब हैं।

उन्होंने कहा, मेरे मन में एक व्यावसायिक विचार था जिसे मैं विकसित करना चाहती थी लेकिन ऐसा करने के लिए मेरे वित्तीय साधन नहीं थे। मैं कोलंबिया के येसु धर्मसमाज की आभारी हूँ जिसने मुझे समर्थन दिया, मुझे प्रशिक्षित किया और मुझे इस पहल का अवसर दिया। येसु धर्मसमाजी पुरोहितों की बदौलत मैंने अपनी व्यावसायिक पहल विकसित की और मैं आगे बढ़ सकी।

लोरेना सबको प्रोत्साहन देती हैं कि वे अपने-अपने सपनों को साकार करने हेतु प्रयास करें तथा आशा का कभी भी परित्याग न करें।

25 September 2020, 11:11