खोज

Vatican News

विशेष लौदातो सी वर्ष के दौरान सृष्टि का सत्र

लौदातो सी वर्ष की घोषणा के साथ समग्र मानव विकास हेतु गठित परमधर्मपीठी परिषद के सचिव ने काथलिकों से अपील की है कि वे सृष्टि के वार्षिक सत्र में भाग लें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 26 मई 2020 (रेई)- सृष्टि का सत्र है वार्षिक ख्रीस्तीय एकतावर्धक वार्ता प्रार्थना समारोह एवं आमघर की सुरक्षा हेतु कार्य। इसकी अवधि 1 सितम्बर से 4 अक्टूबर तक है। यह 1 सितम्बर को  सृष्टि के लिए विश्व प्रार्थना दिवस से शुरू होकर 4 अक्टूबर को संत फ्राँसिस असीसी के पर्व के साथ होती है।

सभी ख्रीस्तीय समुदायों को निमंत्रण दिया जाता है कि वे प्रार्थना सभाओं का आयोजन करने, दलों में कचरों को साफ करने या हिमायत कार्य करने के द्वारा इसमें भाग लें।  

विशेष निमंत्रण

विशेष लौदातो सी वर्ष का कार्यक्रम इसकी 5वीं वर्षगाँठ की पृष्टभूमि पर आयोजित है जिसकी शुरूआत संत पापा फ्राँसिस ने 24 मई को की है।

टूटे रिश्तों को जोड़ना

समग्र मानव विकास के लिए गठित परमधर्मपीठीय परिषद के सचिव मोनसिन्योर ब्रूनो मरिये डूफे ने इस सत्र के लिए एक पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने कहा है कि सृष्टि के सत्र के लिए संत पापा फ्राँसिस के साल 2019 का संदेश विशेष रूप से प्रासंगिक है जब विश्व कोरोना वायरस महामारी का सामना कर रहा है।

उन्होंने कहा, "जब दुनिया वैश्विक आपातकाल के बीच एक गहरी अनिश्चितता महसूस कर रही है हम यह पहचानने के लिए बुलाये गये हैं, वास्तव में, स्वस्थ सुधार का मतलब है यह देखना कि 'सब कुछ जुड़ा हुआ है' तथा उन रिश्तों को चंगा करना जो टूट गये हैं।"

अभिन्न पारिस्थितिकी के लिए नया रास्ता

कलीसिया के इस पारिस्थितिक प्रयास को संत पापा फ्राँसिस के प्रेरितिक प्रबोधन "क्वीरिदा अमाजोनिया" से बल मिला है। मोनसिन्योर डूफ्फे ने कहा कि काथलिक विश्वासी योजनाएँ बनाना शुरू करें जो कलीसिया को एवं समस्त पर्यावरण को नये रास्ते पर चलने में मदद दे। समुदायों को विशेष ख्रीस्तयाग अर्पित करने अथवा तीर्थयात्रा करने का प्रोत्साहित किया जाता है।

कलीसिया के धर्मगुरूओं से आग्रह किया जाता है कि वे विश्वासियों के बीच सतत् अभ्यासों एवं हिमायती प्रयासों के प्रति जागरूकता लायें। उन्होंने कहा, "यह सत्र हमें पृथ्वी एवं इसके साथ हमारे महत्वपूर्ण संबंध के नवीनीकरण के लिए एक साथ कार्य करने का अवसर प्रदान करता है, और मैं इस यादगारी में भाग लेने हेतु आप सभी को हार्दिक निमंत्रण देता हूँ।"

26 May 2020, 16:24