खोज

Vatican News
खजूर रविवार को संत पापा के पूजन समारोह में भाग लेती एक महिला खजूर रविवार को संत पापा के पूजन समारोह में भाग लेती एक महिला 

वाटिकन में दिवसत्रय, क्रूस रास्ता और पास्का समारोह

इस वर्ष महामारी के कारण पवित्र सप्ताह के दौरान पवित्र गुरुवार और पवित्र शुक्रवार, शनिवार का रात्रि जागरण मिस्सा और रविवार को पास्का का समारोही मिस्सा महोत्सव में विश्वासियों की भागीदारी पर पुनर्विचार किया गया है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 8 अप्रैल 2020 (रेई) : संत पापा के पूजनविधि समारोह के कार्यालय के अध्यक्ष मोन्सिन्योर ग्वीदो मरीनी ने कहा कि इस वर्ष महामारी के कारण संत पापा फ्राँसिस पवित्र सप्ताह के सभी पूजन धर्मविधियों का अनुष्ठान संत पेत्रुस महागिरजाघर के अंदर विश्वासियों की अनुपस्थिति में करेंगे। संत पापा संचार मीडिया के माध्यम से अधिक से अधिक विश्वासियों के करीब रहना चाहते हैं।

पवित्र गुरुवार

पवित्र गुरुवार को, संत पापा क्रिस्म मिस्सा की अध्यक्षता नहीं करेंगे, इसे बाद में मनाया जाएगा। चेना दोमिनी (प्रभु की अंतिम ब्यारी) में प्रभु द्वारा युखरीस्त संस्कार की स्थापना की याद की जाती है। संत पापा संत पेत्रुस महागिरजाघर में शाम 6 बजे (रोम समय) पवित्र मिस्सा का अनुष्ठान करेंगे। मिस्सा के दौरान पैरों के पारंपरिक धुलाई को शामिल नहीं किया जाएगा और पवित्र संस्कार का कोई जुलूस नहीं होगा।

पवित्र शुक्रवार

पवित्र शुक्रवार को संत पेत्रुस महागिरजाघर में शाम 6 बजे  येसु के दुखभोग की धर्मविधि और पवित्र क्रूस की आराधना विधि सम्पन्न होगी। क्रूस की आराधना के लिए संत मार्सेल गिरजाघर से लाये गये क्रूस को ढंका जाएगा। रोमन कूरिया के लिए निर्धारित उपदेशक फादर रानिएरो कांतालामेस्सा प्रवचन देंगे। उसके बाद क्रूस पर से कपड़े को हटाया जाएगा और क्रूस के पारंपरिक चुंबन के बिना ही आराधना विधि शुरु होगी।

क्रूस का रास्ता  

संत पेत्रुस प्रांगण में शाम 9 बजे  क्रूस का रास्ता धर्मविधि सम्पन्न की जाएगी। क्रूस रास्ता दो समूहों द्वारा किया जाएगा। प्रथम भाग की अगुवाई पदुआ के कैदी करेंगे जिन्होंने क्रूस रास्ता धर्म विधि के लिए मनन चिंतन और प्रार्थना तैयार किया है। दूसरा माग वाटिकन स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर और नर्सें करेंगे जो इस महामारी से प्रभावित लोगों की सेवा में अग्रिम पंक्ति में हैं।

पवित्र शनिवार

पवित्र शनिवार जागरण मिस्सा संत पेत्रुस महागिरजाघर के अंदर रात 9 बजे शुरु होगा। मिस्सा में बपतिस्मा संस्कार धर्मविधि नहां होगी। प्रारंभिक आग समारोह पापस्वीकार वेदी के पीछे होगा और तीन "लुमेन क्रिस्टी" का गायन होगा, जो कि बसीलिका में जुलूस के दौरान रोशनी के साथ ही होगा। ग्लोरिया गान पुनरुत्थान की घोषणा के समय संत पेत्रुस महागिरजाघर की घंटियाँ बजेंगी।

पास्का रविवार

संत पापा फ्राँसिस संत पेत्रुस महागिरजाघर में सुबह 11 बजे पास्का रविवार का समारोही मिस्सा का अनुश्ठान करेंगे।  सुसमाचार ग्रीक और लैटिन भाषा में घोषित किया जाएगा। पवित्र मिस्सा के अंत में संत पापा फ्राँसिस उरबी एत ओर्बी (रोम और विश्व) संदेश देंगे और अपना आशीर्वाद देगें।

इस तरह पूरा उत्सव संत पेत्रुस महागिरजाघर के अंदर होगा।

08 April 2020, 17:27