Vatican News
पास्का रविवार के दिन राहत सामग्री पहुँचाते कारितास के स्वयंसेवी, पोलैण्ड- 12.04.2020 पास्का रविवार के दिन राहत सामग्री पहुँचाते कारितास के स्वयंसेवी, पोलैण्ड- 12.04.2020  (ANSA)

कोविद-19 संघर्ष में स्थानीय कलीसियाएँ कारितास द्वारा समर्थित

कोविद-19 महामारी के विरुद्ध संघर्षरत स्थानीय कलीसियाओं की मदद हेतु विश्वव्यापी काथलिक उदारता संगठन "कारितास इन्तरनासियोनालिस" ने "कोविद -19 रेस्पॉन्स फन्ड" नामक एक नवीन कोष की स्थापना की है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 17 अप्रैल 2020 (रेई, वाटिकन रेडियो): कोविद-19 महामारी के विरुद्ध संघर्षरत स्थानीय कलीसियाओं की मदद हेतु विश्वव्यापी काथलिक उदारता संगठन "कारितास इन्तरनासियोनालिस" ने "कोविद -19 रेस्पॉन्स फन्ड" नामक एक नवीन कोष की स्थापना की है।

सार्वभौमिक काथलिक कलीसिया की मानव विकास सम्बन्धी परमधर्मपीठीय समिति ने गुरुवार को एक विज्ञप्ति जारी कर "कोविद -19 रेस्पॉन्स फन्ड" नामक एक नई अनुदान एकत्र करनेवाली पहल की शुरूआत की।

रोम स्थित उदारता संगठन "कारितास इन्तरनासियोनालिस" के महासचिव आलोईशियुस जॉन ने वाटिकन रेडियो से बातचीत में कोविद-19 महामारी से पीड़ित लोगों तथा महामारी के विरुद्ध कलीसिया की भूमिका पर प्रकाश डाला।  

सन्त पापा फ्राँसिस की उत्कंठा

श्री जॉन ने कहा, "सन्त पापा फ्रांसिस कोविद-19 महामारी से पीड़ित लोगों के प्रति अत्यधिक चिन्तित हैं तथा चाहते हैं कि सार्वभौमिक कलीसिया, संकट के इस क्षण में, स्थानीय कलीसियाओं के साथ एकात्मता एवं प्रेम व्यक्त करते हुए उनकी मदद करे।"

उन्होंने बताया कि इस कार्य के लिये सन्त पापा ने एक विशिष्ट आयोग का गठन किया है जिसके प्रस्तावों पर अन्तरराष्ट्रीय कारितास संगठन काम करेगा। इस क्षेत्र में कारितास के अनुभव पर बोलते हुए, उन्होंने कहा, "स्वास्थ्य और सूक्ष्म विकास के क्षेत्रों में हमारा अच्छा अनुभव है, और हम कलीसिया की सेवा में पल्ली स्तर तक भी मौजूद हैं।"

एकात्मता का संकेत

श्री जॉन ने बताया कि कारितास ने इस कार्य के लिये सर्वेक्षण शुरु कर दिया तथा उसे 140 धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों से प्रतिक्रियाएँ भी प्राप्त हुई हैं। अस्तु, कारितास के पास पहले से ही सघन जानकारी है, जिसका उपयोग कोविद-19 के प्रकोप के समय राहत सामग्री के वितरण के लिये किया जा सकता है।  

श्री जॉन ने कहा कि एकजुटता कोष का उपयोग संक्रमणों की रोकथाम और नियंत्रण, स्वच्छ पेयजल  और स्वच्छता तक पहुंच तथा व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण, जैसे मास्क, दस्ताने, आदि की खरीद के लिये किया जाएगा।

लॉकडाऊन पीड़ितों को भोजन

श्री जॉन ने कहा, अन्तरराष्ट्रीय कारितास संगठन लॉकडाऊन से पीड़ित लोगों को भोजन उपलब्ध कराने के प्रति भी अत्यधिक चिन्तित है। विकासशील देशों में कई लोग पहले से ही भुखमरी एवं निर्धनता के शिकार हैं तथा भोजन के लिये लॉकडाऊन के उल्लंघन को भी तत्पर हैं, इसलिये इन लोगों को भोजन एवं प्राथमिक आवश्यकता का सामान उपलब्ध कराना इस क्षण की चुनौती है, जिसका सामना करने के लिये कारितास स्थानीय कलीसियाओं की मदद को कृतसंकल्प है।  

17 April 2020, 11:17