खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (ANSA)

महामारी के समय प्रस्तावित मिस्सा, पुण्य शुक्रवार को नई प्रार्थना

दिव्य उपासना के लिए गठित परमधर्मपीठीय धर्मसंघ ने विश्वभर में फैली महामारी के समय के लिए, एक प्रस्तावित ख्रीस्तयाग एवं पुण्य शुक्रवार को प्रभु के दुःखभोग समारोह के दौरान एक विशेष निवेदन जोड़ा है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 2 अप्रैल (रेई)- दिव्य उपासना के लिए गठित परमधर्मपीठीय धर्मसंघ ने विश्वभर में फैली महामारी के समय के लिए, एक प्रस्तावित ख्रीस्तयाग एवं पुण्य शुक्रवार को प्रभु के दुःखभोग समारोह के दौरान एक विशेष निवेदन जोड़ा है। नया धर्मविधिक निर्देश अध्यादेशों के साथ धर्मसंघ के वेबसाईट पर प्रकाशित किया गया है। दस्तावेज विश्वभर के धर्माध्यक्षों को भेज दिया जा चुका है।

पुण्य शुक्रवार का निवेदन

पुण्य शुक्रवार के निवेदन में “उनके लिए जो महामारी के समय में पीड़ित हैं”, “उन सभी के लिए जो वर्तमान संकट का परिणाम झेल रहे हैं” ताकि पिता ईश्वर रोगियों को स्वास्थ्य, स्वास्थ्य- कर्मियों को शक्ति, परिवारों को सांत्वना और जितने लोग मर गये उन्हें मुक्ति प्रदान करे (आधिकारिक अनुवाद नहीं है)। प्रार्थना में याचना की गयी है कि ईश्वर अपनी दया से पीड़ित लोगों की रक्षा करे, बीमार लोगों की पीड़ा कम करे, उन लोगों को शक्ति दे, जो उनकी देखभाल कर रहे हैं और मृत विश्वासियों को अनन्त शांति में प्रवेश पाने दे।

प्रस्तावित मिस्सा

धर्मसंघ ने एक प्रस्तावित मिस्सा का भी प्रस्ताव रखा है, जिसमें “विशेष रूप से ईश्वर से महामारी खत्म करने के लिए प्रार्थना की जायेगी।”

आरम्भिक प्रार्थना

“सर्वशक्तिमान एवं अनन्त ईश्वर, हर जोखिम में चौकस शरण, कृपा करके अपनी दृष्टि हम पर डाल जो विश्वास के साथ इस कठिनाई में तुझसे याचना करते हैं और मृतकों को अनन्त विश्राम प्रदान कर, शोकित लोगों को सहानुभूति प्रदान कर, रोगियों को सुस्वस्थ कर, मरन्नासन में पड़े लोगों को सांत्वना दे, स्वास्थ्यकर्मियों को बल प्रदान कर, नागरिक अधिकारियों को प्रज्ञा का आत्मा प्रदान कर और एक ऐसा हृदय दे कि सभी प्रेम के सूत्र में बंध सकें ताकि हम सभी एक साथ तेरे नाम की महिमा कर सकें।”

02 April 2020, 17:35