खोज

Vatican News
अमाजोन पर सिनॉड के विशेष सचिव कार्डिनल माइकेल चरनी अमाजोन पर सिनॉड के विशेष सचिव कार्डिनल माइकेल चरनी 

कार्डिनल चरनी ˸ ग्रह की रक्षा के लिए अमाजोन से प्रेम करें

अमाजोन पर सिनॉड के विशेष सचिव कार्डिनल माइकेल चरनी ने संत पापा के प्रेरितिक प्रबोधन को प्रस्तुत किया जिसको विगत दिसम्बर माह में पूरा किया गया था। प्रेरितिक प्रबोधन को 12 फरवरी को प्रकाशित किया गया। इसमें अमाजोन प्रांत के लिए संत पापा फ्राँसिस के चार बड़े सपने हैं। जिनमें से एक है अमाजोनी चेहरे के साथ एक मिशनरी कलीसिया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार, 12 फरवरी 2020 (रेई)˸ अमाजोन पर सिनॉड के विशेष सचिव कार्डिनल माइकेल चरनी ने संत पापा के प्रेरितिक प्रबोधन को प्रस्तुत किया जिसको विगत दिसम्बर माह में पूरा किया गया था। प्रेरितिक प्रबोधन को 12 फरवरी को प्रकाशित किया गया। इसमें अमाजोन प्रांत के लिए संत पापा फ्राँसिस के चार बड़े सपने हैं। जिनमें से एक है अमाजोनी चेहरे के साथ एक मिशनरी कलीसिया।  

कार्डिनल चरनी ने वाटिकन मीडिया के साथ अपने एक साक्षात्कार में संत पापा फ्राँसिस के प्रेरितिक प्रबोधन के मुख्य विन्दुओं को प्रस्तुत किया।

उन्होंने कहा, "अमाजोन का भाग्य हम सभी को प्रभावित करता है क्योंकि सब कुछ एक दूसरे से जुड़ा हुआ है और इस प्रांत की मुक्ति एवं यहाँ के मूल निवासी पूरे विश्व के लिए मूल हैं।"

सवाल- माननीय कार्डिनल, सर्वप्रथम पोप द्वारा इस दस्तावेज के प्रकाशन के समय, पर सवाल जिन्होंने कहा था कि यह साल के अंत में तैयार हो जाएगा। क्या देरी हुई तारीख के बारे में कोई जिक्र किया था?

उत्तर- कार्डिनल चरनी ने कहा कि सिनॉड के समापन के अपने भाषण में संत पापा ने कहा था कि "धर्मसभा के दौरान पोप ने जो अनुभव किया उसपर उनके शब्द लाभदायक हो सकते हैं। मैं इसे साल के अंत में कहना चाहूँगा जिससे कि बहुत अधिक समय न बीत जाए।" वास्तव में वैसा ही हुआ। वादा के अनुसार, संत पापा ने पोस्ट सिनॉडल प्रबोधन के अंतिम रूप को 27 दिसम्बर को प्रदान किये थे, इस प्रकार यह साल 2019 के समापन के पहले ही तैयार था। जिसको सामान्य आवश्यक चरणों से होकर गुजरना पड़ा, जिसके लिए समय लगते हैं ˸ दस्तावेज का पुनः अवलोकन, प्रारूप एवं विभिन्न भाषाओं में अनुवाद और अंत में, इसे अब प्रकाशित किया गया।   

सवाल- आपके विचार से, प्रेरितिक प्रबोधन का केंद्रीय संदेश क्या है?

उत्तर- प्रेरितिक प्रबोधन का शीर्षक है "क्वेरिदा अमाजोनिया" "प्रिय अमाजोन" और इसके केंद्र में अमाजोन के लिए संत पापा का स्नेह है। उस स्नेह का परिणाम है ˸ सम्पन्नता और गरीबी, विकास एवं अभिरक्षा, सांस्कृतिक मूल की रक्षा करने एवं दूसरों के प्रति खुला होने के बीच संबंध के बारे सामान्य तरीके से उलटा सोचना। संत पापा हमारे लिए "गूँज" की व्याख्या करते हैं कि सिनॉडल प्रक्रिया उनमें प्रदीप्त हुईं। वे इसे चार सपनों के रूप में पूरा करते हैं। संत पापा ख्वाब देखते हैं कि अमाजोन प्रांत में, गरीबों, मूल वासियों और सबसे निम्न लोगों के अधिकारों की रक्षा के लिए हरेक व्यक्ति प्रतिबद्ध होगा। वे अमाजोन के लिए सपने देखते हैं कि वह अपनी सांस्कृतिक धरोहर को बचा सकेगा। अमाजोन के लिए उनकी पारिस्थितिकी सपना है वह बहुतों के जीवन की रक्षा कर सकेगा।

अंततः वे स्वप्न देखते हैं कि ख्रीस्तीय समुदाय अमाजोन में प्रवेश कर सकेंगे और अमाजोनी चेहरे के साथ कलीसिया का निर्माण करेंगे। कार्डिनल चरनी ने कहा कि कविताओं के बहुत अधिक उद्धरण एवं संत पापाओं के पूर्व दस्तावेजों के संदर्भ से मैं भी प्रभावित हुआ।

क्रमशः...

12 February 2020, 18:00