खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस औरसंयुक्त राष्ट्र महासचिव अंतोनियो गुटेरेस संत पापा फ्राँसिस औरसंयुक्त राष्ट्र महासचिव अंतोनियो गुटेरेस  

संयुक्त राष्ट्र महासचिव अंतोनियो गुटेरेस का वीडियो संदेश

शुक्रवार को वाटिकन में संत पापा फ्राँसिस ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव अंतोनियो गुटेरेस का अभिवादन किया। मुलाकात के दौरान दोनों ने वीडियो संदेश दिया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

रोम, शनिवार 21 दिसम्बर 2019 (वाटिकन न्यूज) : संयुक्त राष्ट्र महासचिव अंतोनियो गुटेरेस की संत पापा फ्राँसिस से दिली तमन्ना थी और उन्होंने शुक्रवार को वाटिकन में संत पापा से मुलाकात की। महासचिव गुटेरेस ने संत पापा के गर्मजोशी स्वागत के लिए तहे दिल से धन्यवाद दिया।

महासचिव ने अपने संदेश में कहा, “संत पापा, आप आशा और मानवता के एक दूत हैं - मानव पीड़ा को कम करने और मानवीय गरिमा को बढ़ावा देने हेतु प्रयासरत हैं। आपकी स्पष्ट नैतिक आवाज़ गूँजती है - चाहे आप शरणार्थियों और प्रवासियों सहित सबसे कमजोर की दुर्दशा पर बोल रहे हों… गरीबी और असमानताओं का सामना कर रहे हों… निरस्त्रीकरण की अपील कर रहे हों… समुदायों के बीच पुलों का निर्माण कर रहे हों… और निश्चित रूप से, आपके ऐतिहासिक विश्वपत्र, 'लौदातो सी' के माध्यम से जलवायु आपातकाल को उजागर कर रहे हों।

संयुक्त राष्ट्र चार्टर के मूल्य

ये संदेश संयुक्त राष्ट्र चार्टर के मुख्य मूल्यों के साथ मेल खाते हैं - अर्थात् मानव व्यक्ति की गरिमा और मूल्य की पुष्टि, लोगों के प्यार को बढ़ावा देने और हमारे ग्रह की देखभाल, हमारी सामान्य मानवता को बनाए रखना और हमारे आम घर की रक्षा करना जिसकी हमारी दुनिया को पहले से कहीं ज्यादा जरूरत है।

उन्होंने कहा, “मैं मैड्रिड में कॉप 25 सम्मेलन समाप्त करने के बाद रोम आया हूँ। मैंने दुनिया भर के सभी देशों से 2050 तक कार्बन तटस्थता के लिए अपील की है। वैज्ञानिक समुदाय हमें बताता है कि ग्रह को बचाने के लिए इसकी बहुत ही आवश्यकता है।”

“संत पापा, मैं आपके असाधारण वैश्विक जुड़ाव और संयुक्त राष्ट्र के काम के प्रति मजबूत समर्थन के लिए आभारी हूँ, जिसमें 2015 में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय की आपकी यादगार यात्रा भी शामिल है, क्योंकि विश्व सतत विकास लक्ष्यों पर एक निष्पक्ष वैश्विक एकीकरण के लिए हमारा खाका एक समझौते पर पहुँच गया था।”

इस क्रिसमस के मौसम में हमारी बैठक विशेष रूप से सार्थक है। यह शांति और सद्भावना का समय है और मैं कुछ ईसाई समुदायों के लिए दुखी हूँ - जिसमें दुनिया के कुछ पुराने समुदाय भी शामिल हैं जो सुरक्षित रुप से क्रिसमस का त्योहार मनाने में असमर्थ हैं।

धार्मिक असहिष्णुता

दुख की बात है कि हम आराधनालय में यहुदियों की हत्या होते हुए देखते हैं, उनके कब्रगाह स्वस्तिकों से विहीन होते हैं, मुसलमानों के मस्जिदों में गोलियाँ चलाई गई, उनके धार्मिक स्थलों को तोड़फोड़ दिया गया,  प्रार्थना में भाग ले रहे ख्रीस्तियों को गोलियों का शिकार बनना पड़ा। गिरजाघरों को जला दिया गया। हमें आपसी समझ को बढ़ावा देने और बढ़ती नफरत से निपटने की जरूरत है।

संत पापा, मैं अंतरजातीय संबंधों को बढ़ावा देने में आपकी असाधारण सेवा के लिए अपनी तहे दिल से प्रशंसा करता हूँ - जिसमें "विश्व शांति के लिए मानव बिरादरी और एक साथ रहने" पर अल-अजहर के ग्रैंड इमाम के साथ आपकी ऐतिहासिक घोषणा शामिल है।

धार्मिक स्वतंत्रता एवं सुरक्षा

यह घोषणा अत्यंत महत्वपूर्ण है जब हम धार्मिक स्वतंत्रता और विश्वासियों के जीवन पर ऐसे नाटकीय हमले देखते हैं। संयुक्त राष्ट्र ने धार्मिक स्थलों की सुरक्षा के लिए एक कार्य योजना और घृणास्पद भाषण से निपटने की रणनीति शुरू की है। इन अशांत समय में, हमें शांति और सद्भाव के लिए एक साथ खड़ा होना चाहिए। यह दृष्टिकोण, मार्गदर्शन और उदाहरण में परिलक्षित होता है।

पुनः मैं आपको दिल से धन्यवाद देता हूँ।  आपको एवं शांति के साथ क्रिसमस मनाने वाले सभी ख्रीस्तियों को मेरी शुभकामनायें और एक नया साल मुबारक हो।

21 December 2019, 14:04