खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस एवं वियतनाम के उप प्रधानमंत्री त्रोंग होआ बिन्ह वाटिकन में 20 अक्टूबर 218 को एक मुलाकात के दौरान संत पापा फ्राँसिस एवं वियतनाम के उप प्रधानमंत्री त्रोंग होआ बिन्ह वाटिकन में 20 अक्टूबर 218 को एक मुलाकात के दौरान  (Copyright 2018 The Associated Press. All rights reserved)

परमधर्मपीठ-वियतनाम कार्यकारी दल की सभा का समापन

वाटिकन में परमधर्मपीठ एवं वियतनाम के कार्यकारी दल की दो दिवसीय सभा बृहस्पतिवार को समाप्त हुई। दल ने शुक्रवार को सभा में हुई बहस पर एक वक्तव्य जारी किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 24 अगस्त 2019 (रेई)˸ परमधर्मपीठ-वियतनाम कार्यकारी दल की सभा 21 और 22 अगस्त तक वाटिकन में सम्पन्न हुई जिसके बाद शुक्रवार को दल ने एक वक्तव्य जारी किया जिसमें दोनों देशों के बीच संबंध, दक्षिण पूर्वी एशिया में काथलिक कलीसिया की स्थिति एवं उनके मुद्दों तथा वियतनाम में संत पापा के स्थायी प्रतिनिधि के कार्यालय की स्थापना पर विशेष प्रकाश डाला गया। 

सभा की सह-अध्यक्षता वियतनाम के उपविदेश मंत्री तो अन्ह डंग ने की जो अपने देश के प्रतिनिधि मंडल का नेतृत्व कर रहे थे तथा वाटिकन की ओर से वाटिकन के उपविदेश सचिव मोनसिन्योर अंतोइने कमिल्लेरी ने की। उन्होंने भी वाटिकन के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया।

प्रेस कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति

वाटिकन प्रेस कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि दोनों पक्षों के प्रतिनिधियों ने वियतनाम-परमधर्मपीठ संबंधों पर गंभीर विचार-विमर्श किया, जिसमें वियतनाम में काथलिक कलीसिया से संबंधित मुद्दे भी शामिल थे। दोनों दलों ने हाल के वर्षों में द्विपक्षीय संबंधों में सकारात्मक विकास पर संतुष्टि महसूस की, खासकर, वियतनाम एवं परमधर्मपीठ के बीच कार्यकारी दल की सभाओं के कारण दोनों देशों के बीच लगातार संपर्क तथा वियतनाम के इंटर-एजेंसी वर्किंग ग्रुप एवं वियतनाम में संत पापा के अस्थायी प्रतिनिधि महाधर्माध्यक्ष मारेक जालेवस्की के बीच सलाह-मशविरा के कारण।  

वियतनामी प्रतिनिधिमंडल ने दोहराया कि वियतनाम, विश्वास और धर्म की स्वतंत्रता का सम्मान करने और सुनिश्चित करने की निरंतर नीति के क्रियान्वयन में सुधार कर रहा है। वह वियतनाम में काथलिक समुदाय के विकास एवं क्रिया-कलापों के लिए अनुकूल परिस्थिति उत्पन्न कर रहा है।  

परमधर्मपीठ ने देश द्वारा काथलिक कलीसिया को सहायता देने हेतु उसकी सराहना की तथा काथलिक विश्वासियों की इच्छा को पुनः पुष्ट किया कि वे अच्छे काथलिक और उत्तम नागरिक होने की बुलाहट को जीना चाहते हैं ताकि कलीसिया की धर्मशिक्षा और देश के कानूनों का सम्मान करते हुए वे वियतनाम के विभिन्न विकास एवं कल्याण के कार्यों में अपना सहयोग दे सकेंगे।

दोनों ओर के प्रतिनिधियों ने वियतनाम की कलीसिया की स्थिति पर विचार किया। उन्होंने वियतनाम और परमधर्मपीठ के बीच संबंध को बढ़ाने एवं निकट भविष्य में, खासकर, संत पापा के प्रतिनिधि के वियतनाम में स्थायी निवास एवं कार्यालय के समझौता पर बातें कीं, जिसमें जितनी जल्दी हो सके कार्यालय की स्थापना हेतु तिथि निर्धारित करने की बात हुई।

दोनों पक्षों ने द्विपक्षीय संबंधों को संचालित करने वाले परस्पर सहमति सिद्धांत पर विश्वास और सम्मान के साथ वार्ता जारी रखने की प्रतिबद्धता जतायी। उन्होंने दोनों पक्षों के बीच उच्च स्तरों तक संपर्क को बढ़ावा देने के महत्व को रेखांकित किया।

वाटिकन का दौरा करने के अवसर पर वियतनाम के प्रतिनिधिंडल ने संत पापा फ्राँसिस, वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल पीयेत्रो परोलिन और वाटिकन विदेश सचिव महाधर्माध्यक्ष पौल गल्लाघर से मुलाकातें कीं। बतलाया गया कि ये सभी मुलाकातें सद्इच्छा एवं आपसी सम्मान के महौल में सम्पन्न हुईं।  

24 August 2019, 17:01