खोज

Vatican News
कास्टेल गंडोल्फो कास्टेल गंडोल्फो  (©Buesi - stock.adobe.com)

संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें द्वारा कास्टेल गंडोल्फो का दौरा

सेवानिवृत संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ने परमाध्यक्षों के गर्मियों के निवास, कास्टेल गंडोल्फो का दौरा किया और अपराहन को रोजरी माला की प्रार्थना करते हुए सुंदर बगीचे में समय बिताया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 27 जुलाई 2019 (वाटिकन न्यूज) : सेवानिवृत संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें अपने परमाध्यक्षीय काल में हर वर्ष रोम से बाहर अलबानो पहाड़ियों में स्थित कास्टेल गंडोल्फो में गर्मियों का समय बिताया करते थे। कास्टेल गंडोल्फो शांत और अपेक्षाकृत ठंडा स्थान है।  संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ने बीते वर्षों की याद ताजा करते हुए बृहस्पतिवार अपराहन को कास्टेल गंडोल्फो का दौरा किया।

रोजरी प्रार्थना और रात्रि भोजन

वाटिकन प्रेस कार्यालय निदेशक मत्तेओ ब्रूनी के अनुसार, संत पापा ने कास्टेल गंडोल्फो के परमाध्यक्षों के प्रेरितिक आवास के पीछे स्थित अपने विशाल उद्यान में टहलते हुए रोज़री प्रार्थना की। संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें  ने रोम की गर्मियों से बचने के लिए अधिकांश गर्मियों का समय कास्टेल गंडोल्फो में बिताय़ा। वे आमतौर पर जुलाई और अगस्त के महीनों तक रुकते थे,  परमाध्यक्षीय भवन के सामने  के झरोखे से चौक में उपस्थित विश्वासियों और तीर्थयात्रियों के साथ देवदूत की प्रार्थना और उनका अभिवादन किया करते थे।

संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ने उद्यान में प्रार्थना करने के बाद, ‘रोक्का दी पापा’ के सैंडस्टोन की माता मरियम के तीर्थालय का भी दर्शन किया। उसके बाद उन्होंने फ्रस्काती के धर्माध्यक्षीय भवन में धर्माध्यक्ष रफाएलो मार्टिनेली के साथ रात का भोजन किया। धर्माध्यक्ष मार्टिनेली ने संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें को रात के खाने के लिए आमंत्रित किया था।

ईश्वर की उपस्थिति

फ्रस्काती धर्मप्रांत के विकर जनरल,  मोन्सिन्योर रफाएलो टोरेली भी शाम के खाने में उपस्थित थे। उन्होंने वेटिकन रेडियो को बताया कि संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें की यात्रा "एक अद्भुत प्रभाव" छोड़ दिया है। संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें एक संत पुरुष हैं वे ईश्वर की उपस्थिति में रहते हैं, उनकी आंखें और मुस्कान ईश्वर की उपस्थिति का एहसास कराते हैं।  

संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें फ्रस्काती में रात का भोजन करने के बाद अपने निवास  मातेर एक्लेसिया मठ, वाटिकन उद्यान लौट गये।

27 July 2019, 14:45