खोज

Vatican News
सेवानिवृत संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें सेवानिवृत संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें  

इवरिया यात्रा की 10वीं वर्षगांठ पर संत पापा बेनेडिक्ट का संदेश

इवरिया धर्मप्रात की प्रेरितिक यात्रा की 10 वीं वर्षगांठ की याद करते हुए सेवानिवृत संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ने रोमानो कैनावेज के नागरिकों और इवरिया धर्मप्रात के विश्वासियों को अपना संदेश भेजा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 29 जुलाई, 2019 (रेई) : “पिता सुलभ प्रेम के साथ में आप सभी को याद करता हूँ और सर्वशक्तिमान ईश्वर से आपके ऊपर आशीष की कामना करता हूँ।” यह उस संदेश का निष्कर्ष है जिसे सेवानिवृत संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ने रोमानो कैनावेज के नागरिकों को और इवरिया धर्मप्रांत की अपनी यात्रा की दसवीं वर्षगांठ पर भेजा।

संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें 2009 में ‘वाले दी-ओस्ता’ के ग्रीष्मकालीन निवास आये थे और वहाँ खुशहाल लोगों से मिले थे, जो विभिन्न कानावेसे देशों से आये थे, पहले से ही आर्थिक संकट में पड़े लोगों ने संत पापा के प्रेरितिक पत्र “कारितास इन वेरिताते” से काफी साहस पाया था और संत पापा की उपस्थिति से उनका आत्मविश्वास और बढ़ गया था।  

रविवार 28 जुलाई को दसवीं वर्षगांठ का समारोही ख्रीस्तयाग का अनुष्ठान राज्य सचिव सेवानिवृत कार्डिनल तारसीसियो बेरतोने ने की। उनके साथ इवरिया धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष अडवार्डो चेर्रातो और पल्ली पुरोहित फादर जाचेक पेलेजेक थे,जिन्होंने 2009 में संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें का पल्ली में स्वागत किया था।

मिस्सा के अंत में, वाटिकन टेलीविज़न सेंटर ने संत पापा की यात्रा के मुख्य झलक के साथ, संत पापा के निवास स्थान मातेर एक्लेसिया मठ, वाटिकन का एक वीडियो पेश किया जिसके अंत में संत पापा ने सभी को अपना आशीर्वाद दिया।

संत पापा का संदेश

संदेश में संत पापा ने कहा, “मुझे पता है कि आप इवरिया धर्मप्रात की प्रेरितिक यात्रा की 10वीं वर्षगांठ में रोमानो कैनावेज और इवरिया धर्मप्रांत के विश्वासी एकत्रित हुए हैं। मैं उन दिनों के समारोह को खुशी के साथ याद करता हूँ और हृदय से मेरा स्वागत करने हेतु मैं पुनः आप सभी का धन्यवाद करता हूँ। आपका नाम रोम के साथ कैनवेस के दो-हज़ारवें लिंक को दर्शाता है। ख्रीस्तीय धर्म ने आपके लंबे इतिहास को चिह्नित किया है और प्रभावशाली पल्ली कलीसिया इसे प्रदर्शित करती है।”

संत पापा ने अपनी इच्छा प्रकट करते हुए लिखा कि वे अपने उन बुनियादी मूल्यों के साथ खुद को पोषित करते रहें जो उनके साथी नागरिकों को बढ़ावा दिया है और सामाजिक और सांस्कृतिक संदर्भ में इस कठिन समय में सुरक्षा और आशा की सकारात्मक ऊर्जा दी है।

संत पापा ने सभी को माता मरियम के हाथों सुपुर्द करते हुए ईश्वर से उनके लिए प्रार्थना की।

29 July 2019, 17:10