खोज

Vatican News
वाटिकन प्रेस के नवनियुक्त निर्देशक ब्रूनी सन्त पापा के साथ विमान पर, 23.01.2019 वाटिकन प्रेस के नवनियुक्त निर्देशक ब्रूनी सन्त पापा के साथ विमान पर, 23.01.2019  (Vatican Media)

नियुक्ति के लिये मातेओ ब्रूनी ने प्रकट किया आभार

वाटिकन प्रेस कार्यालय के नव-नियुक्त निर्देशक मातेओ ब्रूनी ने अपनी नियुक्ति के लिये सन्त पापा फ्राँसिस के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त किया है। गुरुवार, 18 जुलाई को वाटिकन प्रेस ने उक्त नियुक्ति की घोषणा की थी।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 19 जुलाई 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो): वाटिकन प्रेस कार्यालय के नव-नियुक्त निर्देशक मातेओ ब्रूनी ने अपनी नियुक्ति के लिये सन्त पापा फ्राँसिस के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त किया है। गुरुवार, 18 जुलाई को  वाटिकन प्रेस ने उक्त नियुक्ति की घोषणा की थी।

वाटिकन रेडियो से बातचीत में नव-नियुक्त निर्देशक ब्रूनी ने कहा, निश्चित रूप से यह नियुक्ति मेरे लिए सम्मान की बात है। मैं इसे न केवल व्यक्तिगत सम्मान के संकेत के रूप में बल्कि विगत वर्षों में वाटिकन प्रेस कार्यालय में मेरे सहयोगियों के साथ सम्पादित कार्यों के प्रति सम्मान के रूप में देखता हूँ।

ग़ौरतलब है कि मातेओ ब्रूनी विगत दस वर्षों से वाटिकन प्रेस कार्यालय में मीडिया समन्वयक के तौर पर कार्य करते रहे थे।

वाटिकन प्रेस का महत्व

अपने नवीन पद के विषय में पूछे जाने पर निर्देशक ब्रूनी ने कहा कि हालांकि वाटिकन प्रेस कार्यालय वाटिकन के भीतर एक लघु संरचना है तथापि इसकी भूमिका अहं और जटिल है। उन्होंने कहा, "हाल के वर्षों में अपने व्यावसायिक जीवन में मैंने भले ही पर्दे के पीछे से काम किया है, मैंने सदैव सही जानकारी के संचार में योगदान देने की कोशिश की है और इसी कार्य को मैं अपनी नई भूमिका में भी निभाना चाहता हूँ।" उन्होंने स्पष्ट किया कि परमधर्मपीठीय प्रेस में काम करना केवल एक पेशेवर काम नहीं है बल्कि इसमें मानवीय पुट भी मिला हुआ है जिसके लिये समर्पण की नितान्त आवश्यकता रहा करती है।

वर्तमान विश्व और सूचना एवं संचार

वर्तमान विश्व में किस प्रकार की सूचना की आवश्यकता है? इस प्रश्न के उत्तर में निर्देशक ब्रूनी ने कहा, "आज विश्व को एक आधिकारिक और पारदर्शी सूचना की आवश्यकता है ताकि जिस विश्व में हम जीवन यापन करते हैं उसकी जटिलता को लोगों के समक्ष रखा जा सके। ऐसी सूचना और संचार जो रोज़मर्रा के जीवन की घटनाओं के सन्दर्भ में हमारी समझ को समृद्ध करे।"  

सन्त पापा फ्राँसिस के प्रचार-प्रसार के तौर तरीकों के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि सन्त पापा फ्राँसिस का परमधर्मपीठीय काल उनके कृत्यों, उनके शब्दों और उनके चयनों में निहित है। इस परिप्रेक्ष्य में, उन्होंने कहा कि परमधर्मपीठ, कलीसिया एवं कलीसिया के परमाध्यक्ष पर सूचना का आदान-प्रदान करनेवाले अन्य पत्रकारों को भी वे आमंत्रित करते हैं कि सन्त पापा फ्राँसिस की तरह वे भी सरल एवं सहज शब्दों का इस्तेमाल कर लोगों को सत्य पर आधारित सूचना देने में योगदान प्रदान करें।    

19 July 2019, 11:23