खोज

Vatican News
क्रूसित येसु की प्रतिमा क्रूसित येसु की प्रतिमा 

क्रूस रास्ता धर्मविधि की तैयारी हेतु सिस्टर यूजेनिया को आमंत्रण

"दास अब और नहीं" एसोसिएशन की अध्यक्ष, सिस्टर यूजेनिया बोनेत्ती को कोलोसेयुम में पवित्र शुक्रवार के क्रूस रास्ता धर्मविधि के मनन चिंतन प्रार्थना तैयार करने का भार सौंपा गया है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

रोम, शनिवार 6 अप्रैल 2019 (वाटिकन न्यूज) : इस वर्ष का क्रूस रास्ता का मनन चिंतन प्रार्थना मानव तस्करी के पीड़ितों के लिए समर्पित होगा। संत पापा फ्राँसिस ने कोलोसेयुम में पवित्र शुक्रवार के क्रूस रास्ता के मनन चिंतन प्रार्थना तैयार करने का उत्तरदायित्व सिस्टर यूजेनिया बोनेत्ती को सौंपा है। वे कोनसोलाता मिशनरी धर्मसमाज की सदस्य और "दास अब और नहीं" एसोसिएशन की अध्यक्ष हैं। इसकी घोषणा शुक्रवार को वाटिकन प्रेस कार्यालय के अंतरिम" निदेशक, एलेसांद्रो जिसोत्ती ने की।

"दास अब और नहीं"

"दास अब और नहीं" एसोसिएशन की स्थापना दिसंबर 2012 में मानव तस्करी के शिकार लोगों को बचाने के लिए की गई थी। एसोसिएशन में धर्मसंघी और लोक धर्मी मानव तस्करी के खिलाफ लड़ाई में अपना योगदान दे रहे हैं। एसोसिएशन की अध्यक्ष, सिस्टर यूजेनिया बोनेत्ती करीब बीस वर्षों से मानव तस्करी के शिकार लोगों को बचाने हेतु कार्यरत हैं। इन वर्षों के दौरान हजारों लड़कियों को इसके चंगुल से निकाला गया,जिनमें से कई प्रवासी हैं।

नेटवर्किंग

वाटिकन रेडियो के साथ हाल में हुए साक्षात्कार में, सिस्टर बोनेत्ती ने तस्करी की घटना के साथ-साथ "इटली और अन्य देशों में, दूसरे समूहों, संगठनों और संघों के साथ नेटवर्किंग करके" महिलाओं के खिलाफ "हिंसा को रोकने और मुकाबला करने" के महत्व को बतलाया। उन्होंने कहा कि मानव तस्करी एक ऐसी घटना है, जो लोगों के "मूल देश, पारगमन और गंतव्य देशों को प्रभावित करती है, जिनके साथ हम संपर्क और सहयोग को तेज करना चाहेंगे।"

06 April 2019, 16:11