खोज

Vatican News
शीर्ष सम्मेलन में प्रार्थना करते हुए संत पापा फ्राँसिस शीर्ष सम्मेलन में प्रार्थना करते हुए संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

प्रभु, हमें अपनी प्रतिष्ठा को बचाने के प्रलोभन से मुक्त कर

संत पापा फ्राँसिस ने सभी ख्रीस्तियों को ईश्वर से दीनता पूर्वक अपने अपराधों को स्वीकारने की शक्ति मांगने और उन सभी चीजों से अलग रहने हेतु प्रेरित किया जो येसु मसीह के सुसमाचार को पारदर्शी बनाने में मदद नहीं करते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 23 फरवरी 2019 (रेई) : वाटिकन में इन दिनों "कलीसिया में नाबालिगों की सुरक्षा" विषय पर तीन दिवसीय शीर्ष सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। शुक्रवार 22 फरवरी, दूसरे दिन की विषय वस्तु थी ‘कलीसिया में जिम्मेदारी, जवाबदेही और पारदर्शिता को लागू करने के लिए रखी जाने वाली प्रक्रियाओं की जांच’। इस विषय के मद्देनजर संत पापा फ्राँसिस ने सभी ख्रीस्तियों से दीनता पूर्वक अपने अपराधों को स्वीकारने की शक्ति ईश्वर से मांगने हेतु प्रेरित किया।

शुक्रवार 22 फरवरी के संदेश में उन्होंने लिखा, “हे ईश्वर, हमें अपने आप को और हमारी प्रतिष्ठा को बचाने के प्रलोभन से मुक्त कर; हमें अपने अपराध को स्वीकार करने में मदद करें और ईश्वर के सभी लोगों के साथ मिलकर विनम्र और ठोस जवाब पाने में हमारी मदद कीजिए।”

शनिवार 23 फरवरी के ट्वीट में संत पापा ने लिखा, “हे ईश्वर, हम पर दया दृष्टि कर जिससे कि हम जान पाये कि हमें किस चीज की जरुरत है। हम अपने आप को उन सभी चीजों से अलग कर सकें जो येसु मसीह के सुसमाचार को पारदर्शी बनाने में मदद नहीं करते हैं।”

23 February 2019, 17:34