Cerca

Vatican News
विश्वास के सिद्धांत हेतु गठित परमधर्मपीठीय धर्मसंघ के उपसचिव महाधर्माध्यक्ष चार्ल्स जे. शिक्लुना विश्वास के सिद्धांत हेतु गठित परमधर्मपीठीय धर्मसंघ के उपसचिव महाधर्माध्यक्ष चार्ल्स जे. शिक्लुना   (ANSA)

नाबालिगों की सुरक्षा में चुप्पी स्वीकार्य नहीं, महाधर्माध्यक्ष

"कलीसिया में नाबालिगों की सुरक्षा" पर, वाटिकन में 21 से 24 फरवरी 2019 को होने वाली सभा पर सोमवार को वाटिकन में प्रेस सम्मेलन आयोजित किया गया था।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

विश्वास के सिद्धांत हेतु गठित परमधर्मपीठीय धर्मसंघ के उपसचिव तथा कलीसिया में नाबालिकों की सुरक्षा पर होने वाली सभा की आयोजक समिति के सदस्य महाधर्माध्यक्ष चार्ल्स जे. शिक्लुना ने सोमवार को प्रेस सम्मेलन के दौरान सभा की प्रमुख बातों को प्रस्तुत किया। महाधर्माध्यक्ष ने प्रेस सम्मेलन में इस बात को स्पष्ट किया कि यह अवसर कलीसिया द्वारा कुछ समय से जारी यात्रा का भाग है। यह महत्वपूर्ण है कि इस जाँच को जारी रखने के लिए कोई ठोस कदम उठाया जाए।


उन्होंने कहा, "धर्माध्यक्ष इसके द्वारा अपनी जिम्मेदारियों के बारे में अधिक जागरूक होकर, अपने धर्मप्रांतों में अपने कार्यों को जारी रखने के लिए लौटेंगे।" निर्दोषों की रक्षा करने की जब बात आती है तब उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि हमें उसे नहीं छोड़ देना चाहिए, बल्कि समस्याओं का अधिक उचित समाधान ढूँढने का प्रयास करना चाहिए ताकि कलीसिया सभी लोगों के लिए एक सुरक्षित स्थान बन सके, विशेषकर, बच्चों के लिए। महाधर्माध्यक्ष शिक्लुना ने अपनी उम्मीद जताते हुए कहा कि वे इस सभा को अधिक तर्क संगत होने की उम्मीद करते हैं। उन्होंने कहा कि इन तीन दिनों में ही सारी समस्याओं का समाधान नहीं हो जाएगा किन्तु यह महत्वपूर्ण है कि हम चुप्पी के नियम से आगे बढ़ें क्योंकि चुप्पी अस्वीकार्य नहीं है।  

पारदर्शिता

शिकागो के महाधर्माध्यक्ष एवं सभा के आयोजक समिति के सदस्य कार्डिनल ब्लेज जे. कुपिक ने भी पत्रकारों के सवालों के उत्तर दिया। उन्होंने कहा कि पारदर्शिता की अति आवश्यकता है। उन्होंने इस बात को स्पष्ट किया कि धर्माध्यक्ष जो सभा में भाग ले रहे हैं वे धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों के अध्यक्ष हैं, उन्हें इस संबंध में अपनी जिम्मेदारियों को अच्छी तरह समझना चाहिए।

एक वैश्विक जवाब

जोसेफ रतजिंगर (संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें) फाऊंडेशन के अध्यक्ष एवं वाटिकन में होने वाली सभा के सभापति जेस्विट फादर फेदेरिको लोम्बारदी ने पत्रकारों को बतलाया कि तीन दिनों के दौरान किस तरह से विभिन्न विषयों पर चर्चाएँ की जाएँगी। वे विषय होंगे “जिम्मेदारी, जवाबदेही और पारदर्शिता"। सभा में कुल 190 प्रतिभागी होंगे जो वाटिकन के सिनॉड सभागार में भाग लेंगे। हर दिन तीन लोगों के द्वारा विषय प्रस्तुत किया जाएगा जिसके बाद सवाल जवाब करने का समय दिया जाएगा। सम्मेलन की शुरूआत संत पापा फ्राँसिस बृहस्पतिवार को परिचयात्मक भाषण के साथ करेंगे।

19 February 2019, 16:53