Cerca

Vatican News
आप्रवासियों के बीच कार्डिनल तागले आप्रवासियों के बीच कार्डिनल तागले 

पुरोहित का कार्य घावों को भरना, कार्डिनल तागले

"कलीसिया में नाबालिगों की सुरक्षा" शीर्षक से, वाटिकन में, आयोजित शीर्ष सम्मेलन के पहले सत्र को सम्बोधित करने वाले फिलीपिन्स के कार्डिनल लूईस अन्तोनियो तागले ने वाटिकन न्यूज़ से बातचीत में कहा कि यौन दुराचारों के प्रश्न पर कलीसिया को गम्भीरतापूर्वक विचार कर घावों को भरने का हर सम्भव प्रयास करना चाहिये।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी


वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 22 फरवरी 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो): "कलीसिया में नाबालिगों की सुरक्षा" शीर्षक से, वाटिकन में, आयोजित शीर्ष सम्मेलन के पहले सत्र को सम्बोधित करने वाले फिलीपिन्स के कार्डिनल लूईस अन्तोनियो तागले ने वाटिकन न्यूज़ से बातचीत में कहा कि यौन दुराचारों के प्रश्न पर कलीसिया को गम्भीरतापूर्वक विचार कर घावों को भरने का हर सम्भव प्रयास करना चाहिये.  

कार्डिनल तागले ने कहा कि विश्वास की भावना में ही यौन दुराचारों पर रोक लगाई जा सकती तथा पीड़ितों को न्याय दिलाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि पीड़ितों के कष्ट में सहभागी होना नितान्त आवश्यक है.   

पीड़ितों की आवाज़ सुनना ज़रूरी

गुरुवार को यौन दुराचारों से पीड़ित व्यक्तियों के साक्ष्य सुनने के उपरान्त कार्डिनल तागले ने कहा, "यह मेरी व्यक्तिगत और मेषपालीय परिपक्वता है, मैंने पीड़ितों के साक्ष्य सुनें हैं, जिन्हें सुनना कष्टकर था, ये गाथाएँ सुनना न तो सुखद था और न ही सरल, भले ही घाव करनेवालों में केवल पुरोहित शामिल नहीं थे. "

कार्डिनल तागले ने कहा कि पीड़ितों की आवाज़ सुनना ज़रूरी है, यह "नबूवती" है क्योंकि ऐसा कर ही हम इन दुराचारों को रोकने का साहस जुटा पायेंगे. उन्होंने कहा कि जो घाव बन गये हैंन्हें भरना भले ही कहीिन काम है किन्तु विश्वास से परिपूर्ण होकर इन्हें स्वीकार करना तथा उन्हें भरने के ठोस उपाय करना हम सबका दायित्व है.

चेतना जागरण

कार्डिनल तागले ने ध्यान आकर्षित कराया कि कई संस्कृतियों में "यौन मामलों पर चर्चा करना तक वर्जित है, बच्चों, नाबालिगों के समक्ष ऐसी चर्चाएं वर्जित है, किन्तु लोगों में चेतना जागृत करने की आवश्यकता है. स्कूलों में, पल्लियों में इन समस्याओं पर चेतना जागरण की नितान्त आवश्यकता. "

22 February 2019, 11:15