बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस 

संत पापा द्वारा पृथ्वी के संसाधनों के उचित वितरण का आग्रह

संत पापा फ्राँसिस ने सृष्टि की देखभाल हेतु विश्व प्रार्थना दिवस के अवसर पर एक बैठक में भाग लेने वाले उद्यमियों के एक दल से मुलाकात की।

माग्रेट सुनीता मिंज - वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 1 सितम्बर 2018 (रेई) :  संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन के क्लेमेंटीन सभागार में उद्यमियों के एक दल से मुलाकात की जो सृष्टि की देखभाल हेतु विश्व प्रार्थना दिवस के अवसर पर रोम में एकत्रित हुए हैं। संत पापा फ्राँसिस ने सभागार में उपस्थित मेहमानों का तहे दिल से स्वागत करते हुए श्री पीटर कुर्ट के परिचय भाषण के लिए धन्यवाद दिया।

संत पापा ने कहा,“मुझे खुशी है कि इस सप्ताह के अंत में विशेष रूप से आज, सृष्टि की देखभाल हेतु विश्व प्रार्थना दिवस के अवसर पर आपने अपने "रोमन फोरम" पर, प्रेरितिक उद्बोधन ‘लौदातो सी’ पर विचार करने और सृष्टि की देखभाल के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को मजबूत करने के लिए एकत्रित हुए हैं।”

संत फ्राँसिस असीसी एक आदर्श

संत पापा फ्राँसिस ने प्रेरितिक उद्बोधन ‘लौदातो सी’  के न. 10 को उद्धृत करते हुए कहा कि असीसी के संत फ्राँसिस सृष्टि की देखभाल के सबसे बड़े आदर्श हैं। उन्होंने बड़े आनंद के साथ लोगों और सृष्टि की छोटी और कमजोर वस्तुओं की रक्षा की। ईश्वर में अटूट विश्वास के कारण ही उन्हें न्याय, शांति और सृष्टि के प्रति सम्मान एवं उसकी देखभाल करने का मिशन प्राप्त हुआ।

पृथ्वी और दूसरों के प्रति जिम्मेदारी

संत पापा ने कहा,“हम में से प्रत्येक को दूसरों और हमारी पृथ्वी के भविष्य के प्रति ज़िम्मेदारी भी है। इसी प्रकार, अर्थव्यवस्था को भी मनुष्यों का शोषण नहीं, पर सेवा करनी चाहिए और इसके संसाधनों को लूटना नहीं चाहिए। आज हम उन संभावनाओं का उपयोग करने के लिए बुलाये गये हैं जो संसाधनों के अच्छे उपयोग के साथ प्रौद्योगिकी को उपलब्ध कराते हैं, विशेष रूप से गरीबी और संकट में पड़े देशों को नवीनीकरण और टिकाऊ विकास मार्ग को लेने में मदद करते हैं।

मेरी आशा है कि हमारे समय के पुरुष और महिलाएं, एक दूसरे को सृष्टिकर्ता पिता ईश्वर के पुत्र और पुत्रियों के रूप में पहचानें और सभी ठोस रूप से योगदान दें ताकि हर कोई पृथ्वी के मूल्यवान संसाधनों को साझा कर सके। अंत में संत पापा ने सभी को अपना विशिष्ट योगदान जारी रखने हेतु प्रोत्साहित करते हुए ईश्वर से आशीर्वाद की कामना की।

 

01 September 2018, 15:14