Cerca

Vatican News
भूकंप प्रभावित लोग टेंट में भूकंप प्रभावित लोग टेंट में  (AFP or licensors)

इंडोनेशिया के भूकंप पीड़ितों के प्रति संत पापा की संवेदना

संत पापा फ्राँसिस ने इंडोनेशिया की कलीसिया और नागर अधिकारियों को एक टेलीग्राम भेजकर लॉमबोक द्वीप पर रविवार को 7.0 की तीव्रता से आये भूकंप के कारण "पीड़ित लोगों" के प्रति अपना दुःख व्यक्त किया।


माग्रेट सुनीता मिंज - वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार 7 अगस्त 2018 (वाटिकन न्यूज) : सोमवार को संत पापा फ्राँसिस ने रविवार को इंडोनेशिया के लंबोक द्वीप पर बड़े पैमाने पर 7.0 की तीव्रता से आये भूकंप प्रभावित सभी लोगों प्रति "दिल से अपना सामीप्य" व्यक्त किया।

इंडोनेशिया की कलीसिया और नागर अधिकारियों को भेजे टेलीग्राम में संत पापा फ्राँसिस ने कहा कि इस बड़ी त्रासदी की खबर सुनकर उन्हें बहुत दुःख हुआ। भूकंप से अनेकों की मौत हुई तथा बहुत से घरों और संपति को क्षति पहुँची है।

संत पापा ने कहा कि वे "मृतकों की अनंत शांति और घायल लोगों के लिए प्रार्थना करते हैं। ईश्वर उन सभी लोगों को  दुःख सहने, धीरज और सांत्वना दें जो अपने प्रियजनों और मित्रों को खो दिये हैं।"

संत पापा फ्राँसिस ने खोज और बचाव कार्यकर्ताओं के प्रयासों की सराहना करते हुए उन्हें प्रोत्साहित किया और "इंडोनेशिया के सभी लोगों पर सांत्वना और धैर्य के दिव्य आशीर्वाद" की कामना की।

लंबोक और बाली में व्यापक क्षति

वेटिकन न्यूज़ के संवाददाता, एलिस्टेयर वांकलिन ने कहा कि भूकंप ने लंबोक और बाली के इंडोनेशियाई द्वीपों पर क्षति पहुँचाई है। इसमें कम से कम 98 लोग मारे गए और सैंकड़ों घायल हैं। एक सहायता एजेंसी घायल लोगों की मदद के लिए रक्तदान मांग रही है।

इंडोनेशिया के लंबोक और बाली द्वीपों के लोग भय से तुरंत अपने घरों और बड़े इमारतों से भाग कर बाहर निकले और अपनी जान बचाई।  एक व्यक्ति ने कहा कि मलबे गिरने से बहुत से लोग घायल हो गए थे। हजारों घर क्षतिग्रस्त या नष्ट हो गए, और यहां तक कि अस्पताल भी प्रभावित हुए हैं।

इंडोनेशिया के राष्ट्रपति ने  अधिकारियों से कहा कि वे  बचे हुए लोगों की हर तरह से मदद करें। सैन्य विमानों ने तंबू और संचार उपकरण वितरित किए। इंडोनेशियाई रेड क्रॉस लोगों से रक्त  दान के लिए आग्रह कर रहा है।

पर्यटकों की वापसी

इस बीच, राष्ट्रपति जोको विडोडो ने अधिकारियों को विदेशी पर्यटकों को अपने देश वापस जाने में मदद करने को कहा। बाली और लंबोक यूरोप,  ऑस्ट्रेलिया के पर्यटकों और मध्य पूर्व के मुस्लिम राष्ट्रों का लोकप्रिय स्थल हैं।

एक इंडोनेशियाई अख़बार की रिपोर्ट अनुसार तीन छोटे द्वीपों से लगभग 1000 पर्यटकों को निकाला गया।

07 August 2018, 16:10