खोज

Vatican News
भारत की मिशनरी संत मदर तेरेसा भारत की मिशनरी संत मदर तेरेसा  (ANSA)

विश्व मिशन दिवस पर संत पापा की ट्वीट संदेश

विश्व मिशन रविवार को संत पापा फ्राँसिस ने सभी विश्वासियों को सच्चा मिशनरी शिष्य बनने हेतु प्रेरित किया, साथ ही रविवारीय धर्मविधि के लिए चयनित संत मारकुस के सुसमाचार पर येरिखो के अंधे भिखारी बरतिमेउस के विश्वास की प्रशंसा करते हुए, उसकी प्रार्थना को बारंबार दुहराने को कहा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 25 अक्टूबर 2021 (रेई) : काथलिक कलीसिया अक्टूबर महिने के तीसरे रविवार को विश्व मिशन दिवस मनाती है। इस दिन विश्व के सभी मिशनरियों की याद की जाती है जो अपने देश, घर परिवार से दूर कठिनाईयों और जोखिमों का सामना करते हुए प्रभु के सुसमाचार प्रचार में लगे हैं। विश्व मिशन दिवस के दिन तथा रविवार के लिए चयनित सुसमाचार पाठ के मद्देनजर संत पापा ने ट्वीट कर सभी ख्रीस्तियों को अपने हृदय में प्रभु के प्रेम को फिर से जगाने और सच्चा मिशनरी शिष्य बनने हेतु प्रेरित किया।

1ला ट्वीटः

 संदेश में संत पापा ने लिखा, “एक मिशन को जीने का अर्थ है येसु की भावनाओं को अपने में विकसित करना, उनके साथ विश्वास करना कि मेरे आसपास के लोग मेरे भाई-बहन हैं। उनका प्रेम हमारे हृदयों को फिर से जगाए और हमें सच्चा मिशनरी शिष्य बनाए।” #विश्व मिशन दिवस

2रा ट्वीट:

रविवारीय सुसमाचार पर चिंतन करते हुए संत पापा ने ट्वीट में लिखा,“आज के सुसमाचार (मारकुस 10,46-52) में अंधे भिखारी बरतिमेउस का विश्वास प्रकाशित होता है। उसने प्रभु से जो सब कुछ कर सकते हैं उससे वह सब कुछ मांगता है: "मुझ पर दया करो।" वह दान नहीं मांगता, बल्कि स्वयं को प्रस्तुत करता है: वह अपने लिए, अपने जीवन के लिए दया की याचना करता है।”

3रा ट्वीट:

तीसरे ट्वीट में संत पापा ने बरतेमेउस की प्रार्थना को बारंबार दुहराने को कहा, "येसु, मुझ पर दया करें!" आइए, आज हम इस प्रार्थना को आज अपनी प्रार्थना बनायें। आइए, इसे दोहराएं। हम येसु से प्रार्थना करें, जो सब के लिए सब कुछ कर सकते हैं। वह हमारे दिलों में अपनी कृपा और खुशी को उँडेलने के लिए और इंतजार नहीं कर सकते।” # दैनिक सुसमाचार

25 October 2021, 15:39