खोज

Vatican News
बुर्किना फासो की सेना निरिक्षण करती हुई बुर्किना फासो की सेना निरिक्षण करती हुई  (AFP or licensors)

संत पापा ने अफ्रीका, बुर्किना फासो के लिए प्रार्थना की

संत पापा फ्राँसिस ने बुर्किना फासो में एक और हमले के लिए दुख व्यक्त किया जिसमें 130 से अधिक लोग मारे गए। संत पापा ने अफ्रीका में शांति के लिए प्रार्थना की।

माग्रेट सुनीता मिंज –वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 7 जून 2021 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने रविवार को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में एकत्र हुए विश्वासियों के साथ देवदूत प्रार्थना का पाठ करने के बाद कहा कि वह पश्चिम अफ्रीकी देश बुर्किना फासो के एक छोटे से शहर में शुक्रवार और शनिवार के बीच हुए नरसंहार के पीड़ितों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, "मैं उनके परिवारों और पूरे बुर्किनाबे लोगों के करीब हूँ जो बार-बार होने वाले इन हमलों से बहुत पीड़ित हैं। अफ्रीका को शांति की जरूरत है, हिंसा की नहीं।

संत पापा फ्राँसिस याघा प्रांत में एक हमले का जिक्र कर रहे थे जिसमें 7 बच्चों सहित कम से कम 132 लोग मारे गए थे।

72 घंटे के राष्ट्रीय शोक 

सरकार ने इसे हाल के वर्षों में बुर्किना फासो में सबसे भीषण आतंकवादी हमला बताते हुए हमलावरों को आतंकवादी बताते हुए 72 घंटे के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है, हालांकि किसी भी समूह ने इसकी जिम्मेदारी नहीं ली है। अन्य 40 निवासी कथित तौर पर घायल हो गए।

अधिकारियों ने कहा कि हथियारबंद हमलावरों ने नाइजर की सीमा के पास जिहादियों से त्रस्त पूर्वोत्तर के सोल्हान गांव को रात भर घेर लिया। उन्होंने घरों और बाजार को भी जला दिया।

हजारों संयुक्त राष्ट्र शांति सैनिकों की उपस्थिति के बावजूद, पश्चिम अफ्रीका के साहेल क्षेत्र में अल कायदा और इस्लामिक स्टेट से जुड़े जिहादियों के हमले साल की शुरुआत से तेजी से बढ़े हैं, खासकर बुर्किना फासो, माली और नाइजर में, नागरिकों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। हिंसा ने केवल दो वर्षों में 1.14 मिलियन से अधिक लोगों को विस्थापित किया है, जबकि गरीब, शुष्क देश पड़ोसी माली लगभग 20,000 शरणार्थियों की मेजबानी कर रहा है।

 "शांति के लिए एक मिनट"

संत पापा फ्राँसिस ने विश्वासियों को यह भी बताया कि परसों, मंगलवार 8 जून, दोपहर 1 बजे, इंटरनेशनल काथलिक एक्शन एसोसिएशन सभी को अपनी धार्मिक परंपरा के अनुसार शांति के लिए एक मिनट समर्पित करने के लिए आमंत्रित कर रहा है। संत पापा ने विशेष रूप से पवित्र भूमि और म्यांमार के लिए प्रार्थना करने को कहा।

07 June 2021, 14:39