खोज

Vatican News
गाज़ा में घायल लोगों की मदद करते लोग गाज़ा में घायल लोगों की मदद करते लोग  (AFP or licensors)

हथियारों के कोलाहल का अंत करें, इस्राएली एवं फिलीस्तीनी नेताओं से पोप

रविवार को स्वर्ग की रानी प्रार्थना के उपरांत संत पापा ने पवित्र भूमि में हो रहे संघर्ष के प्रति चिंता व्यक्त करते हुए वार्ता की अपील की तथा लौदातो सी सप्ताह की याद दिलायी।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटकिन सिटी

स्वर्ग की रानी प्रार्थना के उपरांत संत पापा ने कहा, "मैं बड़ी चिंता के साथ पवित्र भूमि में हो रही घटनाओं को देख रहा हूँ। इन दिनों गाज़ा पट्टी एवं इस्राएल के हिंसक सैनिकों के बीच संघर्ष चल रहा है और खतरा है कि यह मौत एवं विनाश की कुँडली न बन जाए। कई लोग घायल हैं और अनेक निर्दोष लोग जान गवाँ चुके हैं। उनमें से कुछ बच्चे भी हैं यह भयंकर एवं अस्वीकारीय है। उनकी मौत एक चिन्ह है कि वे भविष्य का निर्माण करना नहीं चाहते बल्कि विनाश चाहते हैं।

घृणा और हिंसा भाईचारा पर गहरा घाव

बढ़ती घृणा और हिंसा जो इस्राएल के कई शहरों को प्रभावित कर रहा है यह भाईचारा एवं नागरिकों के बीच शांतिपूर्ण सहाअस्तित्व पर गहरा घाव है, जिसको चंगा करना कठिन होगा यदि हम तुरन्त वार्ता के लिए न खुलें। मैं अपने आप से पूछता हूँ : घृणा एवं बदले की भावना हमें कहाँ ले जायेगा? क्या हम सोचते हैं कि हम दूसरों को नष्ट कर शांति का निर्माण कर सकते हैं? ईश्वर के नाम पर जिसने मानव की सृष्टि की, अधिकार, कर्तव्य और प्रतिष्ठा में एक समान बनाया और एक-दूसरे के बीच भाई के रूप में जीने के लिए बुलाया। "मैं शांत रहने की अपील करता हूँ और जिसकी जिम्मेदारी है वे अंतरराष्ट्रीय समुदाय की मदद से हथियारों के कोलाहल को खत्म करे और शांति के रास्ते पर चलें। हम प्रार्थना करते हैं कि इस्राएल एवं फिलीस्तीनी वार्ता एवं क्षमा का रास्ता पा सकें, ताकि शांति एवं न्याय के धैर्यशील निर्माता, एक आम आशा को कदम दर कदम खोलने, भाइयों के बीच सहअस्तित्व बनाने में सक्षम हो सकें। हम पीड़ितों के लिए प्रार्थना करें, खासकर, बच्चों के लिए, आइये हम शांति के लिए शांति की रानी से प्रार्थना करें।

"लौदातो सी सप्ताह"

संत पापा ने "लौदातो सी सप्ताह" की याद दिलाते हुए कहा, "आज 'लौदातो सी सप्ताह' शुरू होता है, जिसे कि पृथ्वी की पुकार सुनने के लिए शिक्षा दी जा सके।" मैं समग्र मानव विकास हेतु गठित परमधर्मपीठीय परिषद, विश्व काथलिक जलवायु आंदोलन, कारितास अंतरराष्ट्रीय और संगठन के सदस्यों को धन्यवाद देता हूँ तथा सभी को इसमें भाग लेने का निमंत्रण देता हूँ।   

धन्य फादर फ्राँचेस्को मारिया देला क्रोचे

तत्पश्चात् संत पापा ने रोम के संत जॉन लातेरन में विभिन्न देशों के तीर्थयात्रियों का अभिवादन किया, जिन्होंने फादर फ्राँचेस्को मारिया देला क्रोचे, जो सल्वातोरियन धर्मसमाज के संस्थापक थे उनकी धन्य घोषणा समारोह में भाग लिया। वे सुसमाचार के अथक संदेशवाहक थे। उनका प्रेरितिक उत्साह हमारा आदर्श हो एवं उन लोगों के लिए मार्गदर्शन बने जो कलीसिया में, येसु के वचन एवं प्रेम को हर परिस्थिति में लाने के लिए बुलाये गये हैं।

तब संत पापा ने ताली बजाकर धन्य फादर फ्राँचेस्को का सम्मान किया।  

उसके बाद संत पापा ने रोम, इटली एवं अन्य देशों, खासकर, रोम के संत ग्रेगोरियो मान्यो पल्ली के अजेशी लुपेत्ती दल एवं फ्लोरेंस धर्मप्रांत के रेडेम्पटोरिस मातेर सेमिनरी का अभिवादन किया।  

अंत में, उन्होंने अपने लिए प्रार्थना का आग्रह करते हुए सभी को शुभ रविवार की मंगलकामनाएँ अर्पित की।

16 May 2021, 16:12