खोज

Vatican News
करुणा रविवार को संत पापा मिस्सा का अनुष्ठान करते हुए करुणा रविवार को संत पापा मिस्सा का अनुष्ठान करते हुए  (ANSA)

आइए, हम फिर कभी उसकी दया पर संदेह न करें, संत पापा

दिव्य करुणा रविवार को संत पापा ने सभी विश्वासियों को खुद की परख करने को कहा कि कहीं हमारा विश्वास एक तरफा तो नहीं है? एक ऐसा विश्वास जो लेता है लेकिन देता नहीं है। प्रभु की दया को बहुत बार पाया है, दूसरों पर दया की है? दया प्राप्त करने के बाद, अब हम दयावान बनें।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 12 अप्रैल 2021 (वाटिकन न्यूज) : काथलिक कलीसिया पास्का समारोह के दूसरे रविवार को दिव्य करुणा को महोत्सव मनाती है। इस दिन संत पापा फ्राँसिस ने चार ट्वीट कर करुणामय प्रभु के प्रेम का अनुभव करने और दूसरों के प्रति दयालु बनने हेतु प्रेरित किया।

1ला ट्वीट

संत पापा ने संदेश में लिखा,ʺयेसु के घाव घाव उनके और हमारे बीच एक खुले चैनल है जो हमारी दयनीय स्थिति में हमपर करुणा बरसाते हैं। वे रास्ते हैं जिन्हें ईश्वर ने चौड़ा कर दिया है कि हम उनकी कोमलता में प्रवेश कर सकें और अपने हाथों से उनका स्पर्श करें, आइये, हम उनकी करुणा पर कभी संदेह न करें।ʺ # दिव्य करुणा

2रा ट्वीट

उन्होंने लिखा, ʺआज यह पूछने का दिन है, "क्या मैं, जिसने प्रभु की दया को बहुत बार पाया है, दूसरों पर दया की है?" आइए, हम एक-तरफ़ा विश्वास को न जीयें, एक ऐसा विश्वास जो लेता है लेकिन देता नहीं है। दया प्राप्त करने के बाद, अब हम दयावान बनें।ʺ # दिव्य करुणा

3रा ट्वीट

तीसरे ट्वीट में संत पापा ने लिखा, ʺआइये, हम शांति, क्षमाशीलता और करुणावान येसु के घावों से खुद को नवीनीकृत करें। सिर्फ इसी के द्वारा विश्वास जीवित रहेगा और जीवन सामंजस्यपूर्ण होगा। केवल इस तरह हम ईश्वर के सुसमाचार की घोषणा कर पायेंगे जो करुणा का सुसमाचार है।ʺ 

4था ट्वीट

संत पापा ने लिखा, “आप उन स्थितियों का प्रतिनिधित्व करते हैं, जिसमें दया को मूर्त बनाया जाता है, यह कठिनाई में उन लोगों के लिए निकटता, सेवा, देखभाल बन जाता है। मुझे आशा है, आप हमेशा महसूस करेंगे कि आप पर दया की गई है, ताकि बदले में आप अन्य लोगों के प्रति दयालु बनेंगे।ʺ

12 अपैल का ट्वीट

हम पास्का काल के दूसरे सप्ताह में हैं संत पापा ने सोमवार 12 अप्रैल को एक ट्वीट कर पुरनजीवित प्रभु में अपनी विश्वास दृढ करने हेतु प्रेरित किया। संदेश में संत पापा ने लिखा, ʺयेसु जी उठे हैं। वे हमें बचाने के लिए मृत्यु का सामना किये और जी उठे। इससे पहले कि हम उसकी खोज करें, वे हमारे पास मौजूद होते है। हमारे गिरने के बाद वे हमें फिर से उठाते हैं। वे हमें विश्वास में बढ़ने हेतु मदद करते है।ʺ # पास्का

12 April 2021, 13:43