खोज

Vatican News

मार्च की प्रार्थना की प्रेरिताई में मेल-मिलाप संस्कार

संत पापा फ्राँसिस ने मार्च महीने की प्रार्थना की प्रेरिताई हेतु अपने वीडियो संदेश में मेल-मिलाप संस्कार पर प्रकाश डालते हुए, उसे ईश्वर की क्षमाशीलता एवं असीम करुणा का रसास्वादन करने का माध्यम कहा है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

"जब मैं पापस्वीकार के लिए जाता हूँ, यह मेरी चंगाई के लिए है, मेरी आत्मा की चंगाई के लिए।

अधिक स्वस्थ आध्यात्मिकता के साथ निकलने के लिए। दयनीय स्थिति से करुणा की ओर बढ़ने के लिए।

पापस्वीकार का केंद्र पाप नहीं है जिसको हम बतलाते हैं बल्कि ईश्वरीय प्रेम है जिसको हम ग्रहण करते हैं उसकी हमें सदा जरूरत है।

पापस्वीकार के केंद्र में येसु हैं जो हमारी प्रतीक्षा करते, हमें सुनते एवं हमें क्षमा करते हैं।

याद रखें ˸ ईश्वर के हृदय में हमारी गलतियों से पहले हम हैं।

प्रार्थना करें ताकि हम मेल-मिलाप के संस्कार को नवीकृत गहराई से अनुभव कर सकें,

ईश्वर की क्षमाशीलता एवं असीम करुणा का रसास्वादन करने के लिए।

और हम प्रार्थना करें कि ईश्वर अपनी कलीसिया को दयालु पुरोहित प्रदान करें, न कि सतानेवाले।"

02 March 2021, 16:00