Vatican News
कोविड-19 का वैक्सिन का इंजेक्शन देती एक नर्स कोविड-19 का वैक्सिन का इंजेक्शन देती एक नर्स 

दूसरों की देखभाल करना, उदासीनता के खिलाफ "वैक्सिन" है, पोप

जीवन के लिए गठित परमधर्मपीठीय अकादमी के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष भिंचेंसो पालिया को सम्बोधित पत्र में संत पापा फ्रांसिस ने उन डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्यकर्मियों की याद की है जो कोविड-19 महामारी के समय अपना कर्तव्य निभाते हुए मौत के शिकार हो गये।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 20 फरवरी 2021 (रेई)- संत पापा फ्रांसिस ने कोरोना वायरस संकट के समय डॉक्टरों, नर्सों एवं स्वास्थ्यकर्मियों के उदार एवं साहसी प्रयासों की सराहना की है।

संत पापा ने महाधर्माध्यक्ष भिंचेंसो पालिया को महामारी के कारण मौत के शिकार स्वास्थ्यकर्मियों की स्मृति दिवस पर पत्र भेजा है। कार्यक्रम का आयोजन जीवन के लिए गठित परमधर्मपीठीय अकादमी ने की थी जिसकी अध्यक्षता महाधर्माध्यक्ष पालिया करते हैं। इस दिन को इटली में स्वास्थ्यकर्मियों की सेवा की याद करने के लिए समर्पित की गई थी। इसके ठीक एक साल पहले इटली में कोविड-19 से संक्रमण का पहला मामला सामने आया था।  

समाज के लिए एक चुनौती

संत पापा ने लिखा, "हमारे कई भाइयों और बहनों के उदाहरण, जिन्होंने अपने जीवन को खोने तक जोखिम में डाला, हममें गहरी कृतज्ञता की भावना जागृत करते हैं और यह चिंतन का विषय है। इस तरह का आत्म बलिदान, पूरे समाज को पड़ोसी प्रेम का साक्ष्य देने एवं एक-दूसरे की देखभाल करने हेतु बड़ी चुनौती देता है, खासकर, सबसे कमजोर लोगों के लिए।

उदासीनता के खिलाफ वैक्सिन

उन्होंने कहा, "उन लोगों का समर्पण जो इन दिनों अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्रों में समर्पित हैं वे व्यक्तिवाद एवं आत्मकेंद्रण के खिलाफ वैक्सिन है जो सबसे जरूरतमंद लोगों के निकट रहने और अपने आपको देने की सच्ची चाह को दर्शाता है जो मानव हृदय में वास करती है।"

संत पापा ने आश्वासन दिया है कि शनिवार के इस स्मृति दिवस में वे आध्यात्मिक रूप से भाग ले रहे हैं, और कहा है, "मैं आध्यात्मिक रूप से उन सभी लोगों के साथ हूँ जो इस महत्वपूर्ण स्मृति समारोह में भाग ले रहे हैं और अपने अभिवादन के साथ अपना आशीर्वाद प्रदान करता हूँ।"

20 February 2021, 15:29