खोज

Vatican News
सैली ऑक्सवर्दी, वाटिकन के लिए ब्रिटिश राजदूत सैली ऑक्सवर्दी, वाटिकन के लिए ब्रिटिश राजदूत 

मिलकर काम करने के द्वारा हम बदलाव ला सकते हैं, ब्रिटिश राजदूत

सैली ऑक्सवर्दी, वाटिकन के लिए ब्रिटिश राजदूत ने परमधर्मपीठ के दूसरे राजदूतों के साथ संत पापा फ्राँसिस से चौथी और अंतिम बार मुलाकात की। उन्होंने वाटिकन रेडियो से बातें करते हुए संत पापा के संदेश एवं ग्रेटब्रिटेन की आम चिंताओं पर प्रकाश डाला।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 9 फरवरी 21 (वीएनएस)- सोमवार को संत पापा ने राजनयिकों को सम्बोधित किया, जिसमें "संकट" एक प्रमुख शब्द था जिसका जिक्र संत पापा ने अपने भाषण में किया।

वाटिकन के लिए ब्रिटिश राजदूत ऑक्सवर्दी ने गौर किया कि संत पापा का भाषण पहले से कुछ भिन्न था। पहले के भाषणों में प्रायः वे अंतरराष्ट्रीय संबंधों पर जोर देते थे जबकि इस साल पोप ने कई संकटों की ओर ध्यान आकृष्ट किया, जिन्होंने हमारे विश्व को प्रभावित किया है, खासकर, स्वास्थ्य, पर्यावरण, अर्थव्यवस्था, राजनीति और "मानवता के संकटों के रूप में"।  

राजदूत ने बतलाया कि संत पापा ने कोरोनावायरस महामारी के कारण स्वास्थ्य पर और युवाओं की शिक्षा पर प्रभाव हेतु चिंता व्यक्त की।

उन्होंने कहा, "हालांकि, भाषण थोड़ा अलग था फिर भी संत पापा ने कई परिचित मुद्दों को सामने रखा जिनमें दो तीन नये मुद्दे भी थे, उदाहरण के लिए, म्यानमार के संकट और प्रजातंत्र पर संकट।" उन्होंने कहा कि संत पापा ने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का सम्मान करने, एक राजनीतिक वातावरण बनाने जो बहुत अधिक जटिल नहीं है और कानून के नियम का सम्मान करने की आवश्यकता पर जोर दिया। राजदूत ऑक्सवर्दी ने कहा कि ये सारी बातें यूके के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण हैं अतः इन बातों को सुनना उन्हें अच्छा लगा।

ब्रिटेन और वाटिकन

ब्रिटिश राजदूत ने कहा, "पोप की सारी चिंताओं को नहीं, फिर भी हम बहुत कुछ साझा करते हैं।" उनमें से एक प्रमुख चिंता है जलवायु परिवर्तन। उन्होंने बतलाया कि इस साल यूके कोप 26 जलवायु परिवर्तन सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है जो ग्लासगो में इसी साल के नवम्बर माह में आयोजित किया जाएगा। ऑक्सवर्दी ने बतलाया कि संत पापा ने जलवायु परिवर्तन मुद्दे पर बहुत अधिक जोर दिया और राजनायिकों का ध्यान उन कमजोर लोगों एवं छोटे द्विपों की ओर खींचा जो इससे सबसे अधिक प्रभावित हो रहे हैं, किन्तु अफ्रीका में भी अकाल पड़ रहे हैं। उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि उन्होंने इस बात पर बहुत अधिक जोर दिया और हम वाटिकन के साथ कार्य करते हुए कोप 26 में जलवायु परिवर्तन पर ही कार्य करने लिए प्रतिबद्ध हैं।

राजदूत ने बतलाया कि उन्होंने हरी पहल जारी की है ताकि जितना संभव हो हरा भरा किया जा सके। उन्होंने कहा, "हमारे पास एक इलेक्ट्रिक कार है, हम शाकाहारी या स्थानीय स्रोत से भोजन लेने की कोशिश करते हैं और हम केवल हरी सफाई सामग्री का उपयोग करते हैं।"

राजदूत के रूप में चार साल

ब्रिटिश राजदूत ऑक्सवर्दी के लिए राजदूत के रूप में चार साल का कार्यकाल समाप्त होने वाला है। उन्होंने बतलाया कि वाटिकन आने से पहले उन्होंने वाटिकन से जुड़े कई कलंकों (स्कैंडल) के बारे समाचार पत्रों में पढ़ा था : वित्तीय स्कैंडल, याजकों द्वारा यौन दुराचार आदि। उन्होंने कहा, "यहाँ आकर मैंने वाटिकन के दूसरे पक्ष को देखा। इसमें बहुत सारे लोग विश्व को बेहतर स्थान बनाने के प्रयास में लगे हुए हैं। इन लोगों के साथ एवं परमधर्मपीठ के साथ यूके से संबंधित कुछ मुद्दों पर कार्य करते हुए मुझे बहुत अच्छा अनुभव मिला। इनमें से कई मुद्दों पर आज सुबह भी बात हुई : जैसे कि आधुनिक गुलामी, महिलाओं के खिलाफ हिंसा, जलवायु परिवर्तन, धर्म मानने की स्वतंत्रता और कई अन्य मुद्दे। इन सभी मुद्दों पर एक साथ विचार कर हम बदलाव ला सकते हैं।"

09 February 2021, 15:16