खोज

Vatican News
शपथ ग्रहण समारोह में अमरीका के नये राष्ट्रपति जो बाइडन शपथ ग्रहण समारोह में अमरीका के नये राष्ट्रपति जो बाइडन  (AFP or licensors)

बाइडन से पोप: अमरीका एवं विश्व में शांति व मेल-मिलाप को बढ़ावा दें

संत पापा फ्राँसिस ने अमरीका के नये राष्ट्रपति जो बाइडन को एक संदेश भेजा है जिसमें उन्होंने उनसे अपील की है कि वे अमरीका एवं समस्त विश्व में शांति एवं मेल-मिलाप के अग्रदूत बनें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 21 जनवरी 21 (रेई)- अमरीका के नये राष्ट्रपति के रूप में जो बाइडन के उद्घाटन के अवसर पर संत पापा ने संदेश में कहा है, "अमरीका के 46वें राष्ट्रपति के रूप में आपके उद्घाटन के अवसर पर, मैं आपको अपनी हार्दिक शुभकामनाएँ और अपनी प्रार्थनाओं का आश्वासन देता हूँ कि सर्वशक्तिमान ईश्वर आपको इस उच्च पद पर कार्य करने हेतु प्रज्ञा एवं सामर्थ्य प्रदान करे।" 

बुधवार को पूर्व के समय अनुसार दोपहर में जोसेफ आर. बाइडन एवं कमला हेर्रिस ने शपथ ग्रहण किया एवं 46वें राष्ट्रपति और उप-राष्ट्रपति बने। बाइडन ऐसे समय में अमरीका के राष्ट्रपति बन रहे हैं जब देश में विभाजन है। दो ही सप्ताह पहले 6 जनवरी को जब कॉन्ग्रेस उनके राष्ट्रपति चुनाव के परिणामों को प्रमाणित कर रही थी, डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने वॉशिंगटन डीसी के कैपिटल हिल पर हमला किया और भवन को कई घंटों तक कब्जे में रखा। संत पापा फ्रांसिस ने 10 जनवरी को देवदूत प्रार्थना के उपरांत इस हिंसक कृत्य की निंदा की थी।  

राजधानी में हमले के बाद, जिसमें पाँच लोगों की मौत हो गई थी, प्रतिनिधि सभा ने डोनाल्ड ट्रम्प पर उकसाने के आरोप में महाभियोग लगाया था।

राष्ट्रपति बाइडन को प्रेषित अपने संदेश में संत पापा ने अपनी आशा व्यक्त की है कि "उनके नेतृत्व में अमरीका के लोग बुलंद राजनीति, नैतिक एवं धार्मिक मूल्यों से शक्ति प्राप्त करते रहें जिसने देश की स्थापना के समय से ही प्रेरणा प्रदान की है। अमरीका 1776 में गणतंत्र की स्थापना के बाद 244वाँ वर्ष मना रहा है।

राष्ट्रपति जो बाईडेन ने ऐसे समय में कार्यभार संभाला है जब देश विश्वव्यापी कोरोना वायरस संकट से जूझ रहा है। कार्यक्रम में महामारी से मौत के शिकार लोगों की याद की जायेगी, साथ ही, उन लोगों को पहचान प्रदान की जाएगी जिन्होंने जरूरतमंद लोगों के प्रति प्रेम एवं उदारता प्रदर्शित किया है।

अमरीका में कोविड-19 से अब तक कुल 4,02,000 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 24 मिलियन लोग संक्रमित हुए हैं।

संत पापा ने संदेश में लिखा है कि "ऐसे समय में जब एक गंभीर संकट का सामना किया जा रहा है, हमारा मानव परिवार दूरदर्शिता एवं एकजुट जवाब की मांग कर रहा है। मैं प्रार्थना करता हूँ कि आपका निर्णय सच्चे न्याय और स्वतंत्रता पर आधारित, हरेक व्यक्ति की प्रतिष्ठा एवं अधिकार के सम्मान पर समाज के निर्माण की प्रेरणा से संचालित हो, खासकर, गरीब, कमजोर और आवाज हीन लोगों के लिए।"  

अंत में, संत पापा ने लिखा है कि मैं सभी प्रज्ञा एवं सच्चाई के स्रोत ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि वे आपके प्रयास को अमरीका एवं विश्व के विभिन्न देशों में समझदारी, मेल-मिलाप और शांति को बढ़ावा देने के लिए संचालित करे ताकि सार्वजनिक हित की ओर कदम बढ़ाया जा सके।

इन भावनाओं के साथ, संत पापा ने उन्हें और आपके परिवार तथा अमेरिकी लोगों को अपना आशीर्वाद प्रदान किया है।

 

20 January 2021, 22:09