खोज

Vatican News
सन्त पापा फ्रांसिस से मुलाकात करते कार्डिनल साको, तस्वीर 07.02.2020 सन्त पापा फ्रांसिस से मुलाकात करते कार्डिनल साको, तस्वीर 07.02.2020   (ANSA)

ईराक यात्रा पर सन्त पापा फ्राँसिस मिलेंगे शीर्ष शिया धर्मगुरु से

ईराक में खल्दैई काथलिक कलीसिया के धर्माधिपति कार्डिलन लूईस साको ने गुरुवार को पत्रकारों को बताया कि सन्त पापा फ्राँसिस 5 से 8 मार्च तक निर्धारित ईराक में अपनी यात्रा के दौरान ईराक में शिया मुसलमानों के शीर्ष धर्मगुरु आयत्तोल्ला अली अल-सिस्तानी से मुलाकात करेंगे।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर, वाटिकन सिटी

रोम, शुक्रवार, 29 जनवरी 2021 (रेई,वाटिकन रेडियो): ईराक में खल्दैई काथलिक कलीसिया के धर्माधिपति कार्डिलन लूईस साको ने गुरुवार को पत्रकारों को बताया कि सन्त पापा फ्राँसिस 5 से 8  मार्च तक निर्धारित ईराक में अपनी यात्रा के दौरान ईराक में शिया मुसलमानों के शीर्ष धर्मगुरु आयत्तोल्ला अली अल-सिस्तानी से मुलाकात करेंगे।

संयुक्त घोषणा पत्र एक आशा

ईराक के कार्डिनल साको ने आशा व्यक्त की सन्त पापा फ्रांसिस एवं शिया आयत्तोल्ला "विश्व शांति और सहअस्तित्व के लिये मानव भाईचारे" से सम्बन्धित एक संयुक्त घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर करेंगे। ऐसे दस्तावेज़ पर जैसा कि सन्त पापा फ्राँसिस ने सन् 2019 में, आबू धाबी में, अल-अज़हर के सुन्नी मुसलमान नेता अहमद एल-तायब के साथ किया था।  

कार्डिनल साको यह आशा भी व्यक्त की कि यात्रा के दौरान सन्त पापा फ्रांसिस केन्द्रीय ईराक के शहर नजफ की यात्रा करें, जो शिया मुसलमानों के आध्यात्मिक और राजनैतिक शक्ति केंद्रों में से एक माना जाता है।

"फ्रातेल्ली तूती"

फ्राँस के काथलिक धर्माध्यक्षों द्वारा आयोजित एक ऑनलाईन बैठक में बोलते हुए ईराकी कार्डिनल लूईस साको ने कहा, "विश्व शांति और सामान्य सह-अस्तित्व के लिए मानव भ्रातृत्व सम्बन्धी  दस्तावेज़ एक सार्वभौमिक पाठ है और इसे बदलना आवश्यक नहीं होगा।"

इताली समाचार एजेन्सी आक्सा न्यूज़ के अनुसार, कार्डिनल ने कहा, "यह याद रखने योग्य है कि विगत अक्टूबर माह की चार तारीख को प्रकाशित सन्त पापा फ्राँसिस का तीसरा विश्व पत्र "फ्रातेल्ली तूती", इसी संयुक्त घोषणा से प्रेरित है। यही कारण है कि हमने प्रेरितिक यात्रा के आदर्श-वाक्य में सन्त मत्ती रचित सुसमाचार के 23 वे अध्याय के आठवें पद, "आप सब भाई-भाई हैं", को खल्दैई, अरबी, अँग्रेज़ी एवं कुर्दी भाषाओं अनूदित किया है।

अली अल-सिस्तानी

अली अल-सिस्तानी ईरान में जन्में, ईराकी शिया मुस्लिम समुदाय के नेता हैं। 2014 में, उन्होंने आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट, आईएस के खिलाफ लड़ने के लिए ईराकियों को प्रोत्साहित किया था। अली अल-सिस्तानी ने 2004 में ईराक की लोकतांत्रिक सरकार की स्थापना में अहं भूमिका निभाई थी। नवंबर 2019 में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हिंसा का इस्तेमाल करने के लिये उन्होंने सरकार की कड़ी निन्दा की थी तथा तत्कालीन प्रधान मंत्री आदेल अब्दुल महदी के इस्तीफे का आह्वान किया था।

मार्च माह में अपनी प्रेरेतिक यात्रा के दौरान सन्त पापा फ्राँसिस बगदाद, ऊर तथा उत्तरी ईराक के निनिवे मैदानों में बसे ख्रीस्तीय समुदायों की भेंट करेंगे।

29 January 2021, 12:06