खोज

Vatican News
16.12.2018 पुर्तगाल में तेजे समुदाय प्रार्थना करते हुए 16.12.2018 पुर्तगाल में तेजे समुदाय प्रार्थना करते हुए 

तेजे के युवाओ अविश्वास मत बोओ, आशा के साथ जीओ, संत पापा

संत पापा का फ्रांसीसी समुदाय के युवाओं को संदेश, जो 27 दिसंबर से वर्ष के अंत में अपनी 43वीं यूरोपीय बैठक के लिए एकत्रित हुए हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन न्यूज

वाटिकन सिटी, शनिवार 26 दिसम्बर, 2020 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने तेजे के युवा लोगों से जो अनुरोध किया है, वह ठोस और महत्वपूर्ण है: "आप उन लोगों के समान नहीं हैं, जो निराशा को बोते हैं, लगातार अविश्वास जताते हैं, वह आशा की ताकत को बेअसर कर देगा जो हमें पुनर्जीवित मसीह के प्राप्त होता है।" संत पापा ने उन्हें खुद को "इस उम्मीद से आबाद" रहने के लिए आमंत्रित किया जो उन्हें "मसीह के बताये मार्ग पर चलने और सबसे कमजोर लोगों के साथ मिलकर काम करने की हिम्मत देगा, खासकर उन लोगों के लिए जो वर्तमान समय की कठिनाइयों का सामना करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।"

रचनात्मक युवाओं से संत पापा

वाटिकन राज्य के सचिव कार्डिनल पिएत्रो पेरोलिन द्वारा हस्ताक्षरित संत पापा फ्राँसिस का संदेश तेजे के अंतर-कलीसियाई समुदाय के युवा लोगों के लिए है, जो कल याने 27 दिसम्बर से 1 जनवरी तक अपनी 43वीं यूरोपीय बैठक के लिए ऑनलाइन एकत्रित होंगे। संदेश में कहा गया कि संत पापा, इस वर्ष भी, उनकी वार्ता और प्रार्थनाओं में शामिल होने के लिए खुश है। एक स्वास्थ्य स्थिति को ध्यान में रखते हुए वे शारीरिक तौर से एकत्रित नहीं हो सकते परंतु युवा लोग रचनात्मक और कल्पनाशील संचार के नए साधनों के माध्यम से जुड़े हुए हैं।

अच्छे और बुरे समय में आशावान बनें

संत पापा की आशा है कि "इन दिनों जब वे एक साथ प्रार्थना करते हैं और विश्वास में एक दूसरे का समर्थन करते हैं, तो उन्हें 'अनुकूल और प्रतिकूल समय में आशा' बनाये रखने में मदद मिलेगी," जैसा कि तेजे समुदाय के सुपीरियर ब्रदर अलोईस के संदेश में रेखांकित किया गया है, जो 2021 में पूरे वर्ष के लिए होगा।

आशा में यात्रा जारी रखें

संत पापा ने कहा,ʺतथ्य यह है कि युवा लोग "एक असाधारण आभासी सम्मेलन में मिलते हैं, यह आपको पहले से ही आशा के रास्ते पर ले जाता है।" संत पापा अपने विश्वपत्र ‘फ्रातेल्ली तुत्ती’ का हवाला देते हुए कहते हैं कि "कोई भी अकेले में जीवन का सामना नहीं कर सकता है। हमें एक ऐसे समुदाय की जरूरत है जो हमारा समर्थन करे, जो हमारी मदद करे और जिसमें हम एक-दूसरे की मदद करें।ʺ

आगे संत पापा ने कहा कि आशावान व्यक्ति साहसी होता है, जो जानता है कि व्यक्तिगत आराम से परे जीवन को कैसे देखना है, छोटी प्रतिभूतियाँ और क्षतिपूर्ति जो क्षितिज को संकीर्ण करती हैं, महान आदर्शों को खोलने के लिए जो जीवन को और अधिक सुंदर और गरिमामय बनाती हैं, हमें आशा में आगे बढ़ना है!” संत पापा ने अंत में कहा  "आप इस वर्ष के दौरान मुलाकात और बंधुत्व की संस्कृति को विकसित करना जारी रखें और मसीह के पुनरुत्थान द्वारा प्रकट आशा के इस क्षितिज की ओर एक साथ चलें।"

26 December 2020, 15:32