Vatican News
ऑस्ट्रिया "सनशाइन" से आये बच्चों और उनके माता-पिताओं के साथ संत पापा ऑस्ट्रिया "सनशाइन" से आये बच्चों और उनके माता-पिताओं के साथ संत पापा  (Vatican Media)

ऑटिज़्म सेंटर के छोटे मेहमानों के साथ संत पापा की मुलाकात

संत पापा ने सोमवार को वाटिकन में ऑस्ट्रिया "सनशाइन" ऑटिज़्म सेंटर से आये विशेष जरूरतों वाले छोटे बच्चों, किशोरों और उनके माता-पिताओं, सेंटर के निदेशक और अधिकारियों से मुलाकात की। संत पापा ने इस पहल के लिए अधिकारियों को धन्यवाद दिया। बच्चों से धन्यवाद की छोटी प्रार्थना करने को कहा जो ईश्वर को पसंद है। ईश्वर उन्हें बहुत प्यार करते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 21 सितम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन के संत क्लेमेंटीन सभागार में ऑस्ट्रिया ऑटिज़्म सेंटर से आये 42 छोटे बच्चों और उनके अभिभावकों का सहृदय अभिवादन कर उनसे मिलने की खुशी व्यक्त करते हुए कहा,ʺमैं यहां वाटिकन में आपका स्वागत करता हूँ। मैं आपके चेहरे को देखकर खुश हूँ और मैंने आपकी आंखों में पढ़ा कि आप भी मेरे साथ कुछ समय बिताने के लिए खुश हैं।ʺ

फुलवारी के फूल

संत पापा ने कहा, ʺआपके घर को "सनशाइन" कहा जाता है, जिसका अर्थ है "सूरज की भव्यता"। मैं सोच सकता हूँ कि प्रभारियों ने इस नाम को क्यों चुना। क्योंकि आपका घर सूरज की भव्यता में एक शानदार फुलवारी की तरह दिखता है और इस फुलवारी के फूल आप हैं! ईश्वर ने सभी रंगों के फूलों की एक विशाल विविधता के साथ दुनिया का निर्माण किया। प्रत्येक फूल की अपनी सुंदरता है, जो अद्वितीय है। हममें से हर कोई ईश्वर की नज़रों में सुंदर है और वे हमसे प्यार करते हैं। इसलिए हमें ईश्वर को धन्यवाद कहने की आवश्यकता महसूस होती है! सभी प्राणियों के जीवन उपहार के लिए धन्यवाद! माँ और पिताजी के लिए धन्यवाद! हमारे परिवारों के लिए धन्यवाद! और"सनशाइन" केंद्र के दोस्तों के लिए भी धन्यवाद!

कृतज्ञता

आगे संत पापा ने कहा कि "ईश्वर को धन्यवाद देना" एक सुंदर प्रार्थना है। ईश्वर को प्रार्थना करने का यह तरीका पसंद है। फिर आप एक छोटा सा सवाल भी जोड़ सकते हैं। उदाहरण के लिए: प्यारे येसु, क्या आप माँ और पिताजी के कामों में मदद कर सकते हैं? क्या आप दादी को कुछ आराम दे सकते हैं जो बीमार हैं? क्या आप दुनिया भर के उन बच्चों के लिए भोजन प्रदान कर सकते हैं जिनके पास भोजन नहीं है? या प्यारे येसु, कृपया संत पापा को कलीसिया का नेतृत्व करने में मदद करें। यदि आप विश्वास के साथ मांगते हैं, तो निश्चित रूप से प्रभु आपकी बात सुनते हैं।

संत पापा ने बच्चों के साथ आये माता पिता, ऑटिज़्म सेंटर के निदेशक और अधिकारियों को इन छोटे बच्चों के खूबसूरत पहल के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा, ʺआपको सौंपे गए इन छोटों के पक्ष में आपकी प्रतिबद्धता के लिए धन्यवाद। आपने जो कुछ भी इनमें से एक के लिए किया, वह आपने येसु के लिए किया!ʺ

अंत में संत पापा ने उन्हें अपना प्रेरितिक आशीर्वाद दिया और माता मरियम के संरक्षण में उन्हें सुपुर्द किया।

21 September 2020, 13:36