Vatican News
रोम स्थित मरियम महागिरजाघर की प्रधान वेदी पर मरियम की प्रतिमा रोम स्थित मरियम महागिरजाघर की प्रधान वेदी पर मरियम की प्रतिमा  (©Pavel Losevsky - stock.adobe.com)

रोम के मरियम महागिरजाघर में सन्त पापा फ्राँसिस की भेंट

सन्त पापा फ्राँसिस ने बुधवार को रोम स्थित मरियम महागिरजाघर की भेंट कर, "सालूस पोपोली रोमानी" अर्थात् रोम के लोगों की मुक्ति शीर्षक से सुस्ज्जित, मरियम की प्रतिमा के आगे नतमस्तक होकर प्रार्थना की। बुधवार को मरियम महागिरजाघर के समर्पण का पर्व मनाया गया।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

रोम, गुरुवार, 6 अगस्त 2020 (रेई, वाटिकन रेडियो):  सन्त पापा फ्राँसिस ने बुधवार को रोम स्थित मरियम महागिरजाघर की भेंट कर, "सालूस पोपोली रोमानी" अर्थात् रोम के लोगों की मुक्ति शीर्षक से सुस्ज्जित, मरियम की प्रतिमा के आगे नतमस्तक होकर प्रार्थना की। बुधवार को मरियम महागिरजाघर के समर्पण का पर्व मनाया गया।

हिमपात की पौराणिक कथा

सार्वभौमिक काथलिक कलीसिया में 5 अगस्त को मरियम को समर्पित महागिरजाघर के समर्पण की वर्षगांठ के रूप में चिह्नित किया गया है। रोमी रीति की धर्मविधि में इसे वैकल्पिक रूप से मनाया जाता है।

रोम के मरियम महागिरजाघर के मूल के विषय में कहा जाता है कि सन् 358 ई. में 04 एवं 05 अगस्त के बीच की रात को पवित्र कुँवारी मरियम ने तत्कालीन सन्त पापा लिबेरियुस तथा जॉन नामक एक रोमी देशभक्त को दर्शन देकर उनसे आग्रह किया था कि वे उस स्थल पर एक गिरजाघर का निर्माण करवायें जो उन्हें दिखाया जायेगा।   

ग़ौरतलब है कि अगस्त का महीना रोम में बहुत ही गर्म और आर्द्र भरा होता है किन्तु उस साल पाँच अगस्त की प्रातः रोम की एस्क्विलाइन पहाड़ी के शीर्ष के एक हिस्से को बर्फ की श्वेत चादर ने ढक दिया था, जिससे सन्त पापा लिबेरियुस तथा श्री जॉन को गिरजाघर के जगह का संकेत मिला।

सदियों से, विशिष्ट अनुष्ठानों के साथ, रोम स्थित मरियम महागिरजाघर अथवा लाईबेरियन बज़ीलिका के समर्पण का जश्न मनाया जाता है। समर्पण पर्व पर ख्रीस्तयाग के दौरान,  छत का एक हिस्सा खोला जाता है, जहाँ से सफेद चमेली एवं मोगरे के फूल भक्त-मण्डली पर बरसाये जाते हैं।  

2020 का समर्पण पर्व

इस वर्ष, बुधवार 05 अगस्त की प्रातः महागिरजाघर के प्रधान याजक कार्डिनल स्टानिसलाव रिल्को ने मरियम महागिरजाघर में ख्रीस्तयाग अर्पित किया। मध्यान्ह रोज़री विनती का पाठ किया गया तथा शाम को सान्ध्य वन्दना एवं ख्रीस्तयाग अर्पित किया गया। इस अवसर पर एक बार फिर महागिरजाघर की छत से श्वेत पुष्प बरसाये गये। रोम समयानुसार दिन के साढ़े चार बजे सन्त पापा फ्राँसिस ने मरियम महागिरजाघर की भेंट कर सबको आश्चर्यचकित कर दिया। इस अवसर पर महागिरजाघर के ओर-छोर विश्वासी और प्रशंसक एकत्र हो गये थे।  

06 August 2020, 10:43