खोज

Vatican News
संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में संत पापा के साथ देवदूत प्रार्थना में भाग लेते हुए विश्वासी संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में संत पापा के साथ देवदूत प्रार्थना में भाग लेते हुए विश्वासी 

किसी भी तरह के धन से अधिक मूल्यवान मनुष्य है, संत पापा

हम अपने धन का उपयोग अपनी खुशी, अपने आराम के लिए कर सकते हैं या धन का उपयोग दूसरों की मदद करने और आपसी संबंधों को मजबूत करने के लिए कर सकते हैं। संत पापा ने सभी लोगों को धन दौलत से उपर मनुष्य की अहमियत को समझने और रिश्ते बनाने हेतु प्रेरित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज- वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार 18 अगस्त 2020 (वाटिकन न्यूज) : येसु ने अपने चेलों से कहा, सुई के नाके से होकर ऊँट का निकलना अधिक सहज है, किन्तु धनी का ईश्वर के राज्य में प्रवेश करना कठिन है।(मत्ती 19,24) धन के विषय में येसु के इस विचार का कारण यह है कि मनुष्य सहज से ही उस पर आसक्त हो जाता है। वह उसे पाने या रखने के लिए अकसर बेईमानी भी करता है। संत पापा ने ट्वीट प्रेषित कर धन का सही उपयोग करने हेतु प्रेरित किया।

संत पापा ने संदेश में लिखा, ʺधन हमें दीवारें बनाने के लिए मजबूर कर सकता है। येसु, इसके बजाय, अपने शिष्यों को वस्तुओं और धन को रिश्तों में बदलने के लिए आमंत्रित करता है, क्योंकि लोग चीजों से अधिक कीमती हैं, वे हमारे पास मौजूद किसी भी धन की तुलना में अधिक मूल्यवान हैं।ʺ

18 August 2020, 15:13