खोज

Vatican News
करांची पाकिस्तान में बाल श्रम के विरोध में प्रदर्शन करांची पाकिस्तान में बाल श्रम के विरोध में प्रदर्शन  (AFP or licensors)

बाल श्रम के संकट के लिए हम सभी जिम्मेदार हैं, संत पापा

शुक्रवार, 12 जून को बाल श्रम के शोषण के खिलाफ विश्व दिवस की याद करते हुए संत पापा ने संस्थानों से अपील की कि वे नाबालिगों की सुरक्षा के लिए हरसंभव प्रयास करें। बाल श्रम के संकट के लिए हम सभी जिम्मेदार हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 10 जून 2020 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन के प्रेरितिक भवन के पुस्तकालय में बुधवारीय आमदर्शन के दौरान अपने संदेश के उपरांत इटालियन श्रोताओं का अभिवादन किया और बाल श्रम के शोषण के खिलाफ विश्व दिवस की याद दिलाते हुए महामारी के इस कठिन दौर पर नाबालिकों की विशेष देख-भाल और रक्षा हेतु सभी का आह्वान किया।

उन्होंने कहा, ʺअगले शुक्रवार, 12 जून को बाल श्रम के शोषण के खिलाफ विश्व दिवस मनाया जाता है, एक ऐसी घटना जो युवा लड़कों और लड़कियों को अपने बचपन से वंचित करती है और जो उनके अभिन्न विकास को खतरे में डालती है। वर्तमान स्वास्थ्य आपातकालीन स्थिति में, कई देशों में कई बच्चे और युवा अपनी उम्र से ज्यादा भारी काम करने के लिए मजबूर होते हैं, जिससे अत्यधिक गरीबी में जी रहे उनके परिवारों को मदद मिल सके। उन्हें शारीरिक और मनोवैज्ञानिक पीड़ा सहनी पड़ती है। कई मामलों में वे दासता और कारावास का जीवन जीते हैं।

संत पापा ने कहा, ʺबाल श्रम के संकट के लिए हम सभी जिम्मेदार हैं।ʺ

आगे संत पापा ने कहा, ʺमैं संस्थानों से अपील करता हूँ कि वे नाबालिगों की सुरक्षा के लिए हरसंभव प्रयास करें, आर्थिक और सामाजिक अंतराल को भरते हुए विकृत गतिविधियों को दूर करें जिसमें वे दुर्भाग्य से ये नाबालिग शामिल हैं। बच्चे मानव परिवार का भविष्य हैं: हम सभी का कार्य उनके विकास, स्वास्थ्य और शांति को बढ़ावा देना है!ʺ

10 June 2020, 14:08